develop historic and legacious memories as a tourist center said Navjot Singh Sidhu -m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 25, 2022 6:10 pm
Location
Advertisement

ऐतिहासिक और विरासती यादगारों को सैलानी केंद्र के तौर पर विकसित करेंगे : नवजोत सिंह सिद्धू

khaskhabar.com : बुधवार, 10 जनवरी 2018 7:44 PM (IST)
ऐतिहासिक और विरासती यादगारों को सैलानी केंद्र के तौर पर विकसित करेंगे : नवजोत सिंह सिद्धू
एस.ए.एस.नगर। सांस्कृतिक मामलों और पर्यटन मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने चप्पड़चिड़ी स्थित बाबा बंदा सिंह बहादुर जंगी यादगार का दौरा करते यहाँ आने वाले सैलानियों की सुविधा और इस जगह के विकास के लिए 24 लाख रुपए देने का ऐलान किया। स्थानीय विधायक स. बलबीर सिंह सिद्धू द्वारा मोहाली शहर से यादगार को जोड़ती सडक़ की ख़स्ता हालत और यादगार में सैलानियों की सुविधा के लिए बुनियादी ढांचा विकसित करने की मांग करने उपरांत कैबिनेट मंत्री स. सिद्धू ने आज इस जगह का दौरा करके मौजूदा स्थिति को देखा।

सिद्धू ने दौरा करने उपरांत पत्रकारों के साथ बातचीत करते ऐलान किया कि यादगार के साथ जोड़ती सडक़ के नवीनीकरण के लिए ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री तृप्त राजिन्दर सिंह बाजवा द्वारा 12 लाख रुपए और यादगार के सौन्दर्यकरण और सैलानियों को सुविधाएंं देने के लिए वह अपने निजी ऐच्छिक कोटे में से 12 लाख रुपए देंगे। उन्होंने कहा कि मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा राज्य में स्थित ऐतिहासिक और विरासती स्थानों को सैलानी केंद्र के तौर पर विकसित किया जायेगा जिससे पंजाब से बाहर देशों और विदेशों से भी सैलानी बड़ी संख्या में पंजाब आए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के दिशा निर्देशों के अंतर्गत पंजाब में विरासती मेले फिर बहाल किये गए हैं और विभाग द्वारा पटियाला, अमृतसर, बठिंडा और कपूरथला में विरासती मेले लगाए जाएंगे। पहला मेला फरवरी में पटियाला में करवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब के सांस्कृतिक एवं पर्यटन विभाग का नारा ‘सभ्याचार से रोजग़ार’ जिसके अंतर्गत पंजाब के समृद्ध विरसे और सभ्याचार के द्वारा रोजग़ार के मौके पैदा करना है और राज्य में स्थित सैलानी केन्द्रों को सैलानियों के लिए ओैर आकर्षणपूर्ण बनाना है।


सिद्धू ने कहा कि चप्पड़चिड़ी यादगार सिक्ख कौम के गौरवमयी इतिहास की गवाह है जहाँ बाबा बंदा सिंह बहादुर ने ज़ुल्म का नाश करते हक -सत्य पर धर्म का राज्य स्थापित करके सिक्का चलाया था। उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ी को अपने पृष्टभूमि के साथ जोडऩे और बहुमूल्य विरसे से अवगत करवाने के लिए ऐसी यादगारों पर लाने की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि यदि ऐसीं यादगारों पर सैलानियों के लिए सुविधाएंं स्थापित की जाएँ तो वह यहाँ खींचे चले आऐंगे। उन्होंने कहा कि विदेशों में बैठे प्रवासी पंजाबी अपने बच्चों को पंजाब के साथ जोडऩा चाहते हैं जिस के लिए हमें माहौल बनाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि आज का दौरा उन्होंने ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री के साथ मिल कर करना था परंतु स. बाजवा की ज़रूरी मीटिंग होने के कारण आ नहीं सकें। स. बाजवा ने उनको इस यादगार के साथ जोड़तीं सडक़ों की मुरम्मत और नवीनीकरण के लिए उनके विभाग द्वारा कोई भी घोषणा करने के लिए कहा था जिसके अंतर्गत उन सडक़ों के लिए स. बाजवा द्वारा 12 लाख रुपए दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय विधायक स. सिद्धू को विश्वास दिलाया कि वह शहर के विकास और चप्पड़चिड़ी स्थित यादगार के लिए कोई भी मांग रखेें तो उनकी तरफ से हर संभव मदद दी जायेगी।


इस मौके पर सिद्धू ने स्थानीय विधायक बलबीर सिंह सिद्धू के साथ मिल कर पहले यादगार और फिर मोहाली को यादगार के साथ जोड़ती ख़स्ता हाल सडक़ का दौरा किया। स. सिद्धू ने कहा कि यह बहुत दुख की बात है कि चप्पड़चिड़ी की महान यादगार को मोहाली शहर से जोड़ती सडक़ की हालत इतनी ख़स्ता है। विधायक सिद्धू द्वारा इस सडक़ की मुरम्मत के लिए 10 लाख रुपए की माँग की गई थी जिस पर कैबिनेट मंत्री ने बाजवा की तरफ़ से 10 लाख रुपए देने की घोषणा की।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement