contingency plan for Churu, Provide drinking water through tankers said Rajendra Rathore-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Mar 29, 2020 11:37 am
Location
Advertisement

चूरू: अभावग्रस्त क्षेत्रों में टैंकर्स के जरिये पेयजल मुहैया कराएं- राठौड़

khaskhabar.com : शुक्रवार, 27 अप्रैल 2018 6:33 PM (IST)
चूरू: अभावग्रस्त क्षेत्रों में टैंकर्स के जरिये पेयजल मुहैया कराएं- राठौड़
चूरू /जयपुर। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि चूरू जिले में 28 अप्रेल तक नहरबंदी की वजह से शहरी एवं ग्रामीण अभावग्रस्त क्षेत्रों में आकस्मिक योजना के तहत मांग के अनुसार टैंकर्स से पेयजल आपूर्ति कर आमजन व पशुधन को राहत प्रदान की जायेगी।

ग्रामीण विकास मंत्री शुक्रवार को चूरू कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में नहरबंदी की वजह से जिले में पेयजल समस्या के समाधान के संबंध में आयोजित बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने पेयजल एवं विद्युत अधिकारियों को निर्देशित किया है कि आपसी सामंजस्य रखते हुए पेयजल स्त्रोतों पर नियमित विद्युत आपूर्ति एवं अभावग्रस्त क्षेत्रों में टैंकर्स के जरिये नियमित पेयजल आपूर्ति करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिले में मुख्य पेयजल स्त्रोतों पर पर्याप्त पानी स्टोर में रखें तथा तीन दिन के अन्तराल में अभावग्रस्त शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में टैंकर्स से पेयजल आपूर्ति करें।

राठौड़ ने पेयजल अभियंताओं से कहा है कि जिले में पेयजल समस्या के समाधान के लिए कन्टीनजेंसी प्लान के तहत पर्याप्त पेयजल टैंकर्स मुहैया कराना, पेयजल लीकेज दुरूस्त करना, एसआर व आरओ प्लांट का सही रखरखाव करना, रतननगर में 55 लाख रुपए व्यय कर नवीन पेयजल लाईन डालने, पेयजल विभाग में रिक्त पदों को भरना, शहरी क्षेत्रों में परम्परागत पेयजल स्त्रोतों को सृदृढ़ करना, खराब पेयजल स्त्रोताें की मरम्मत व रखरखाव करना, पेयजल टंकियों की मरम्मत व रखरखाव करने के कार्य प्राथमिकता से किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि चूरू शहर में जनप्रतिनिधियों की मांग पर पेयजल टैंकर्स मुहैया करवाकर आमजन की पेयजल समस्या का त्वरित समाधान करें।

ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि नहरबंदी तक जिले में पंजीकृत गौशालाओं में टैंकर्स के जरिये पेयजल आपूर्ति करें तथा सीवरेज व ड्रेनेज पाईप लाइनों को अलग-अलग करना सुनिश्चत करें। उन्होंने जिला कलक्टर से कहा कि जिले में पेयजल विभाग के सभी अधिकारियों एवं कार्मिकों के सभी प्रकार के अवकाश निरस्त करें।

राठौड़ ने जिला कलक्टर से कहा कि जिले में नहरबंदी के कारण उत्पन्न पेयजल समस्या के त्वरित समाधान के लिए जिला मुख्यालय सहित तहसील मुख्यालयों पर ‘‘पेयजल समस्या समाधान नियंत्रण कक्ष‘‘ स्थापित करें और 24 घंटे इसका संचालन करना सुनिश्चित करें।

जिला कलक्टर ललित कुमार गुप्ता ने पेयजल अभियंताओं से कहा कि वे अभावग्रस्त शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल समस्या समाधान के लिए संवेदनशीलता एवं तत्परता से कार्यवाही कर आमजन को राहत प्रदान करें। उन्होंने कहा कि जिले में आईजीएनपी के तीन मुख्य पेयजल स्टोरेज स्त्रोत - कर्मसाना व बूंगी-राजगढ़ में पर्याप्त जल स्टोरेज है जबकि घनासर जल स्टोरेज में पानी की कमी है जिसका शीघ्र समाधान किया जायेगा।

बैठक में मुख्य अभियंता (ग्रामीण) सीएम चौहान ने पेयजल अभियंताओं को निर्देश दिए कि वे शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल समस्या के शीघ्र समाधान के लिए कन्टीनजेंसी प्लान के तहत त्वरित आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर जिला प्रमुख हरलाल सहारण, उप सभापति अनवर थीम, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी रामरतन सौंकरिया, पेयजल व विद्युत विभाग के अभियंता सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं जिला अधिकारी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement