Construction of state of the art technical institute in Dhalwas village will be completed till June 2018 said minister banwari lal-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 24, 2020 8:44 pm
Location
Advertisement

धामलावास गांव में राजकीय बहुतकनीकी संस्थान का निर्माण जून 2018 तक होगा पूरा-मंत्री

khaskhabar.com : रविवार, 12 नवम्बर 2017 4:41 PM (IST)
धामलावास गांव में राजकीय बहुतकनीकी संस्थान का निर्माण जून 2018 तक होगा पूरा-मंत्री
रेवाड़ी। हरियाणा के जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी राज्य मंत्री डॉ० बनवारी लाल ने कहा है कि रेवाडी जिला के धामलावास गांव में 16 करोड 85 लाख रुपये की लागत से नौ एकड़ भूमि पर बनाये जा रहे राजकीय बहुतकनीकी संस्थान का निर्माण कार्य जून, 2018 तक पूरा कर लिया जाएगा तथा आगामी शैक्षणिक सत्र में इस संस्थान में कक्षाएं शुरू हो जाएगी।

डा. बनवारी लाल ने आज धामलावास गांव में निर्माणाधीन राजकीय बहुतकनीकी संस्थान का निरीक्षण करने के उपरांत यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस बहुतकनीकी संस्थान में सभी ट्रेड शुरू की जाएगी ताकि आसपास गांव के बच्चों को भी रूचि के अनुसार अपनी ट्रेड चुनने का अवसर मिल सकें। उन्होंने बताया कि कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री ने वर्ष 1994 में इस बहुतकनीकी संस्थान की आधारशिला रखी थी लेकिन उनकी सरकार ने 23 वर्ष बीतने पर भी इस संस्थान का निर्माण नहीं करवाया, केवल लोगों को आधारशिला रख के बरगलाया गया। लेकिन वर्तमान भाजपा सरकार आने पर वर्ष 2015 में मुख्यमंत्री के सामने हमने इसके निर्माण की मांग रखी और मुख्यमंत्री ने फरवरी, 2017 में इसकी आधारशिला रखीं और अब इसके निर्माण का कार्य अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार जिस कार्य की आधारशिला रखती है उसका निर्माण कार्य करवा के फीता भी काटती है।

डॉ० बनवारी लाल ने कहा कि केन्द्र सरकार ने अल्पसेवित जिलों में सात बहुतकनीकी संस्थाओं की स्वीकृति प्रदान की है। जिसके लिए प्रत्येक को 12 करोड 30 लाख रूपये की धनराशि प्रदान की गई है। इस योजना के अन्तर्गत करोडों रूपये की धनराशि अनुदान सहायता के रूप में उपलब्ध कराई गई है तथा इस योजना के तहत चीका में बहुतकनीकी संस्थान बनाया गया है। इसके अतिरिक्त चार राजकीय बहुतकनीकी संस्थान उमरी, हथनीकुंड बैराज, जाटल तथा नानकपुरा के भवन निर्माण का कार्य भी प्रगति पर है।

डा. बनवारी लाल ने कहा कि वर्तमान सरकार का ध्येय है कि तकनीकी शिक्षा प्रदान करके लोगों को रोजगार उपलब्ध कराये जाएं। इस मिशन के तहत युवाओं को कौशल प्रशिक्षण के लिए सूर्य दयुवाओं की स्किलिंग, अप-स्किलिंग, रि-स्किलिंग तथा असेसमेंट अन्य विभागों की कौशल पहलों के तहत युवाओं के कौशल प्रशिक्षण के लिए दक्ष योजनाओं को क्रियान्वित किया जा रहा है।

डा. बनवारी लाल ने कहा कि बावल में लघु सचिवालय निर्माण का कार्य आगामी दो माह बाद शुरू हो जाएगा तथा लोगों को अपने कार्यो के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा।
पेयजल के बारे में उन्होंने कहा कि जवाहर लाल नेहरु पंप हाऊस नंबर 5 से 13 किलोमीटर लंबी बीस इंची 500 एमएम लौहे की पाईप से नहरी पानी लाया जाएगा। उन्होंने बताया कि बधराना की परियोजना में 10 करोड़ 60 लाख लीटर पानी की क्षमता होगी तथा प्रतिदिन 60 लाख लीटर पानी फिल्टर करके गांवों के लोगों को सप्लाई किया जाएगा जिससे गांव के लोगों को शुद्ध पेयजल मिलेगा।

मंत्री ने बताया कि 55 गांवों में जलापूर्ति के लिए 5 मध्यवर्गीय बूस्टिंग स्टेशन (आईबीएस) नामत: भांडौर, धामलावास, बवाना गुर्जर, धारन व बधराना गांवों में बनाए जाए रहे हैं, जिनसे इन गांवों को पेजयल के लिए जोड़ा जाएगा। इसके अतिरिक्त मंत्री ने बताया कि गांव खालेटा में 43 करोड़ रुपए की लागत से नहरी पेयजल योजना बनाई जाएगी, जिससे समीपवर्ती 15 गांवों को लाभ होगा।

डॉ० बनवारी लाल ने कहा कि लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए तेजी से परियोजनाओं पर कार्य किया जा रहा है तथा आने वाले समय में पीने के पानी की कोई कमी नहीं रहेगी।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement