Congress MP from Punjab met Foreign Minister Sushma, told about the difficulties-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 29, 2021 8:32 pm
Location
Advertisement

पंजाब के कांग्रेसी सांसद, विदेशमंत्री सुषमा से मिले, दिक्कतों के बारे में बताया

khaskhabar.com : मंगलवार, 02 जनवरी 2018 11:11 PM (IST)
पंजाब के कांग्रेसी सांसद, विदेशमंत्री सुषमा से मिले, दिक्कतों के बारे में बताया
चंडीगढ़। पंजाब के कांग्रेसी सांसदों ने दिल्ली में केन्द्रीय मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की। सांसदों के प्रतिनिधिमंंडल ने विदेश जा रहे भारतीय छात्रों को पासपोर्ट, वीजा में आ रही दिक्कतों के बारे में बात की। साथ ही विदेशी दूल्हों के पंजाबी युवतियों से धोखे से शादी करने के मामले उठाए।

कांग्रेसी सांसदों का नेतृत्व पंजाब कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने किया तथा इसमें सांसद रवनीत सिंह बिट्टू व गुरजीत सिंह औजला भी शामिल हुए। प्रतिनिधिमंडल ने सुषमा स्वराज को बताया कि बेशक पासपोर्ट के लिए ऑनलाइन अप्लाई करने की सुविधा है तथा दस्तावेजों की पड़ताल के बाद आवेदक को ऑनलाइन समय भी दिया जाता है परन्तु इसके बावजूद लोगों को पासपोर्ट केंद्रों के चक्कर लगाने से निजात नहीं मिल रही क्योंकि तय समय पर जब आवेदक पासपोर्ट केंद्र में जाता है तो उसे कुछ और दस्तावेज लाने के लिए कह कर वापस भेज दिया जाता है। जाखड़ ने मांग की कि पासपोर्ट केंद्र अर्जी ऑनलाइन होने के बाद पहले अपने स्तर पर अर्जी की पड़ताल करके उसमें कमियों को देख कर संबंधित आवेदक को बता दे ताकि ई-मेल पर ही आवेदक को सारी जानकारी मिल जाए। उसे बार-बार पासपोर्ट केंद्रों के चक्कर न काटने पड़ें। कांग्रेसी सांसदों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को बताया कि मालवे में भटिंडा में पासपोर्ट केंद्र बनाया हुआ है पर इसके बिल्कुल साथ लगते फाजिल्का, श्री मुक्तसर साहिब तथा फिरोजपुर जिलों के लोगों को अभी भी 200 किलोमीटर की दूरी तय करके श्री अमृतसर साहिब के पासपोर्ट केंद्र जाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि इन जिलों को भटिंडा के साथ जोड़ दिया जाना चाहिए। इसी तरह पंजाब में हर 2-3 जिलों के पीछे पासपोर्ट सेवा केंद्र बनाए जाने चाहिए। इससे पंजाब में लोगों को पासपोर्ट बनवाने में मदद मिलेगी।
कांग्रेसी सांसदों ने सुषमा स्वराज को बताया कि पंजाब से इस समय बड़ी संख्या में ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड तथा कनाडा में स्टडी वीजा पर जा रहे नौजवानों का मसला और भी गंभीर है। यह नौजवान पूरी तरह से एजैंडों पर निर्भर हो कर रहे गए हैं। नौजवानों को यह पता नहीं चलता कि एजैंट सही कालेजों में उन्हें प्रवेश दिलवा रहे हैं या नहीं। उन्होंने कहा कि विदेश मंत्री को इन तीन देशों के लिए कम से कम भारतीय विद्याॢथयों के लिए कुछ करना होगा। विदेशों में मान्यता प्राप्त कालेजों, कोर्सों तथा फीसों संबंधी जानकारी मंत्रालय को अपनी वैबसाइट पर उपलब्ध करवानी होगी ताकि स्टडी वीजा पर जाने वाले विद्यार्थियों को सही दिशा मिल सके।
विदेशी दूल्हों का मामला उठाते हुए कांग्रेसी सांसदों ने कहा कि पंजाबी लड़कियों को गुमराह करके उनसे धोखाधड़ी से विवाह रचा लिया जाता है। इसे देखते हुए जरूरत इस बात की है कि विवाह के लिए पंजाब आने वाले विदेशी दूल्हे अविवाहित होने संबंधी प्रमाण पत्र विदेश से लेकर आए जिसे देखकर ही उनके विवाह पंजाबी लड़कियों से होने चाहिए। इससे पंजाबी लड़कियों को राहत मिलेगी। सुषमा स्वराज ने कहा कि विदेश मंत्रालय एक वैबसाइट जल्द शुरू करेगा जिस पर विदेशी दूल्हों संबंधी जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने पासपोर्ट केंद्रों की रैशनलाइजेशन की प्रक्रिया को जल्द सम्पन्न करने की बात कही।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement