Child theft rumors spreading more in uttar pradesh, bihar and madhya pradesh-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 22, 2019 7:45 pm
Location
Advertisement

उत्तर प्रदेश सहित तीन राज्यों में है बच्चा चोरी की अफवाहों का जोर, पुलिस बोली...

khaskhabar.com : मंगलवार, 13 अगस्त 2019 10:09 AM (IST)
उत्तर प्रदेश सहित तीन राज्यों में है बच्चा चोरी की अफवाहों का जोर, पुलिस बोली...
पटना/लखनऊ/भोपाल। देश के तीन प्रमुख हिंदीभाषी राज्यों में बच्चा चोरी की अफवाहों पर उन्मादी भीड़ की पिटाई से बेकसूरों की जान जाने का सिलसिला थम नहीं रहा है। पुलिस अपनी मुस्तैदी का दावा करती है और यह भी कहती है कि लोग जागरूक हो जाएं, अफवाहों पर ध्यान न दें और कानून को हाथ में लेने वालों में कानून का खौफ रहे, तभी मॉब लिंचिंग (भीड़ हिंसा) की घटनाएं रुक सकती हैं। बिहार की राजधानी पटना में हाल के दिनों में बच्चा चोरी की अफवाह उडऩे की 20 से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं।

ये घटनाएं गांधी मैदान, दीघा, राजीव नगर, फुलवारीशरीफ, मोकामा, दुल्हिनबाजार, बाढ़ व नौबतपुर थाना क्षेत्र में हुई हैं। इन घटनाओं में कम से कम दो बेकसूरों की जान जा चुकी है और पिटाई से घायल कई लोग आज भी मौत से जूझ रहे हैं। पटना के नौबतपुर थाना क्षेत्र में शनिवार को बच्चा चोर होने के संदेह में ग्रामीणों ने एक राहगीर की पीट-पीटकर हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने 23 लोगों को गिरफ्तार किया है।

थाना प्रभारी सम्राट दीपक ने बताया कि इस मामले में 43 नामजद तथा 100 अज्ञात लोगों के खिलाफ नौबतपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय भी कहते हैं कि राज्य में बच्चा चोरी की एक भी घटना नहीं हुई है, महज अफवाह फैलाई जाती है। उन्होंने कहा, बिहार में बच्चे की चोरी की एक भी घटना का साक्ष्य या मामला सामने नहीं आया है। केवल कुछ असामाजिक और शरारती तत्व अफवाह फैलाने में लगे हैं।

इन पर प्रशासन की कड़ी नजर है। लोग ऐसी अफवाहों पर ध्यान न दें। पांडेय ने कहा कि कुछ लोग ऐसी अफवाहें फैलाकर माहौल बिगाडऩे की कोशिश करते हैं। उन्होंने राज्य के सभी पुलिस अधिकारियों, मुखियाओं, सरपंचों, पार्षदों और चौकीदारों से अपील की है कि वे आगे बढक़र इन अफवाहों को काउंटर करने की कोशिश करें।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मनेर और नौबतपुर में बच्चा चोरी की अफवाह को लेकर हुई घटनाओं के बाद सोशल साइट्स के जरिए भी पुलिस जागरूकता अभियान चला रही है। बच्चा चोरी की अफवाहों से अभिभावक भी चिंतित हैं। कई अभिभावक अब अपने बच्चों को खुद स्कूल पहुंचाने और छुट्टी के बाद लेने जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/3
Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement