Child kidnapped from Indore was freed-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 24, 2019 10:02 pm
Location
Advertisement

इंदौर से अपहृत बच्चे को मुक्त करा लिया गया, ,यहां पढ़ें पूरा मामला

khaskhabar.com : मंगलवार, 12 फ़रवरी 2019 4:27 PM (IST)
इंदौर से अपहृत बच्चे को मुक्त करा लिया गया, ,यहां पढ़ें पूरा मामला
इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर से अपहृत बच्चे को सोमवार शाम सागर जिले से मुक्त करा लिया गया और मंगलवार को वह सकुशल अपने घर पहुंच गया। पुलिस की सफलता पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रसन्नता जाहिर की है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, रविवार दोपहर प्राइम सिटी कॉलोनी निवासी व्यापारी रोहित जैन के छह वर्षीय बच्चे अक्षत का अपहरण हो गया था। अपहरणकर्ताओं ने जैन परिवार से 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। अपहृत बच्चे को अपहरणकर्ता सोमवार शाम सागर जिले के बरौदिया पुलिस चौकी क्षेत्र में छोड़कर भाग खड़े हुए थे।

इंदौर के पुलिस उप महानिरीक्षक हरि नारायण चारी मिश्रा ने बताया कि अपहृत बच्चे अक्षत को मंगलवार की सुबह परिजनों को सुपूर्द कर दिया गया। पुलिस ने इस अपहरण कांड में लिप्त लोगों को अपनी गिरफ्त में ले लिया था, जिससे इस काम में लगे लोग घबरा गए और बच्चे को छोड़कर भाग गए। व्यापारी रोहित के बेटे अक्षत जैन (छह) का रविवार को अपहरण हुआ था। तभी से इंदौर पुलिस लगातार अपहरणकर्ताओं की तलाश में लगी थी। इसी क्रम में सागर जिले के बदौरिया पुलिस चौकी क्षेत्र में वाहन की चैकिंग के दौरान सोमवार शाम को आरोपी बच्चे को छोड़कर भाग खड़े हुए। बाद में बच्चे की पहचान अक्षत जैन के तौर पर हुई।

सागर के पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने मंगलवार को संवाददाताओं को बताया कि बदौरिया पुलिस चौकी का पुलिस दल वाहन चैकिंग कर रहा था, तभी मोटर साइकिल सवार दो लोग बच्चे को छोड़कर भाग खड़े हुए। बाद में पता चला कि, यह बच्चा इंदौर से अपहृत बच्चा है। बच्चे को बदौरिया से सागर मुख्यालय लाया गया।

पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी बच्चे को उत्तर प्रदेश के ललितपुर ले जाने की तैयारी में थे, मगर उन्हें अपनी योजना में सफलता नहीं मिली। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने टवीट् कर पुलिस की सफलता पर प्रसन्नता जाहिर की और कहा कि इंदौर से अपहृत छह साल के अक्षत की सागर से सकुशल बरामदगी की खबर काफी सुखद है। मामले में तत्परता दिखाते हुए बच्चे को सकुशल बरामद करने के लिए पुलिस को बधाई। पुलिस को सख्त निर्देश है कि ऐसे मामलों के दोषी को हर हाल में कड़ी से कड़ी सजा दिलवाएं।"
-आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement