Bundelkhand Expressway : farmers unhappy with police and contractor-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Mar 31, 2020 1:26 am
Location
Advertisement

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के लिए 100 बीघा खेत बने तालाब, किसानों ने लगाया यह आरोप

khaskhabar.com : गुरुवार, 27 फ़रवरी 2020 2:21 PM (IST)
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के लिए 100 बीघा खेत बने तालाब, किसानों ने लगाया यह आरोप
बांदा। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण से भविष्य में भले ही विकास की धारा बहे, लेकिन निर्माण कार्य में लगे ठेकेदार ने फिलहाल किसानों के उपजाऊ खेतों से जबरन मिट्टी निकालकर करीब 100 बीघा खेतों को तालाब में बदल दिया है। किसानों का आरोप है कि पुलिस मिट्टी देने के लिए उन्हें पकडक़र जबरन राजी करा रही है। केंद्र और राज्य सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य बड़ी तेजी से चल रहा है।

29 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चित्रकूट जिले के गोंडा गांव में आकर इसका उद्घाटन भी करने वाले हैं। उनकी जनसभा के लिए भाजपा नेता घर-घर हल्दी-चावल बांटकर न्योता भी दे रहे हैं। मगर, इसका दूसरा पहलू यह भी है कि जिस अधिग्रहीत भूमि से यह एक्सप्रेसवे निकाला जा रहा है, उसके अगल-बगल के खेतों से ठेकेदार जबरन मिट्टी की खुदाई कर समतल भूमि को तालाब में बदल दे रहे हैं।

बुंदेलखंड किसान यूनियन के केंद्रीय अध्यक्ष विमल कुमार शर्मा बुधवार को बिलबई गांव के मजरा कलेक्टर पुरवा और हथौरा गांव जाकर पीडि़त किसानों से मिले। शर्मा ने बताया, कलेक्टर पुरवा और हथौरा गांव के करीब 100 बीघा उपजाऊ कृषि भूमि को पांच से दस मीटर की गहराई तक खुदाई कर गहरे तालाब में बदल दिया गया है, जहां अब सिर्फ सिंघाड़ा की खेती या मत्स्य-पालन ही किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement