Bihar : all party will be involved in darbhanga, last time Kirti Azad won election-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 28, 2020 3:58 am
Location
Advertisement

दरभंगा में दबदबे के लिए दलों का दंगल, पिछली बार जीते थे कीर्ति आजाद

khaskhabar.com : बुधवार, 24 अप्रैल 2019 11:55 AM (IST)
दरभंगा में दबदबे के लिए दलों का दंगल, पिछली बार जीते थे कीर्ति आजाद
दरभंगा (बिहार)। 17वीं लोकसभा के चुनाव में बिहार के मिथिलांचल की महत्वपूर्ण सीट दरभंगा में राजनीतिक गुटबंदियों के बाद एक बार फिर मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के बीच है। इस क्षेत्र में एक ओर जहां जाति और धर्म के समीकरण अपनी जगह कायम हैं, वहीं प्रत्याशी अपनी साख और पार्टी नेतृत्व द्वारा किए गए कार्यों के इतिहास और वादों को लेकर मतदाताओं के बीच पहुंच रहे हैं।

इस चुनाव में दरभंगा से कुल नौ प्रत्याशी मैदान में हैं, परंतु राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ओर से भाजपा और विपक्षी दलों के महागठबंधन की ओर से राजद का आमने-सामने का मुकाबला माना जा रहा है। हालांकि दोनों गठबंधनों के समीकरण और उम्मीदवार बदलने के बाद मुकाबला दिलचस्प बन गया है।

पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा के कीर्ति आजाद राजद के अली अशरफ फातमी को लगातार दूसरी बार हराकर संसद पहुंचे थे। मुस्लिम और ब्राह्मण बहुल मतदाताओं वाले इस क्षेत्र में पिछले चुनाव में जनता दल (युनाइटेड) ने संजय झा को चुनाव मैदान में उतारकर मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया था। 2014 में कीर्ति आजाद को जहां 3,14,949 मत मिले थे, वहीं फातमी को 2,79,906 मतों से संतोष करना पड़ा था।

जद (यू) के प्रत्याशी तीसरे स्थान पर रहे थे। इस चुनाव में ये तीनों प्रत्याशी यहां नहीं हैं। इस चुनाव में दरभंगा पर एक दशक से चल रहे कब्जे को बरकरार रखने के लिए भाजपा ने जहां पूरी ताकत झोंक रखी है, वहीं अपनी परंपरागत सीट को पुन: पाले में करने के लिए राजद ने भी अपनी पूरी ताकत लगा दी है। भाजपा और राजद दोनों ने स्थानीय उम्मीदवारों पर दांव लगाया है।

भाजपा ने बिरौल अनुमंडल के पररी गांव निवासी पूर्व विधायक गोपालजी ठाकुर को मैदान में उतारा है, तो राजद अपने वर्तमान विधायक बेनीपुर अनुमंडल के रूपसपुर गांव निवासी अब्दुलबारी सिद्दिकी को चुनावी जंग में उतारकर मुकाबले को कांटे का बना दिया है। उल्लेखनीय है कि फातमी ने जहां राजद छोडक़र अलग राह पकड़ ली है, वहीं आजाद भाजपा को छोडक़र कांग्रेस के टिकट पर झारखंड के धनबाद से चुनाव लड़ रहे हैं।

दरभंगा संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत दरभंगा, दरभंगा ग्रामीण, बहादुरपुर, बेनीपुर, अलीनगर और गौड़ाबौराम विधानसभा क्षेत्र आते हैं। इन छह विधानसभा क्षेत्रों में तीन पर राजद का तो तीन पर भाजपा, जद (यू) का कब्जा है। विपक्षी दलों के महागठबंधन को जहां एक बार फिर मुस्लिम-यादव मतदाताओं पर भरोसा है, वहीं भाजपा को अपने वोट बैंक के अलावा जद (यू) और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के वोटबैंक की उम्मीद है।

हालांकि अति पिछड़ा वर्ग भी यहां के चुनाव परिणाम को प्रभावित करते रहे हैं। इस बीच, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने भी यहां से मुस्लिम उम्मीदवार मोहम्मद मोख्तार को चुनावी मैदान में उतारकर मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने की कोशिश की है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement