Battery stolen gang busted, 10 arrested-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 19, 2019 5:50 am
Location
Advertisement

बैट्री चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 10 लोग गिरफ्तार

khaskhabar.com : सोमवार, 12 नवम्बर 2018 7:40 PM (IST)
बैट्री चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 10 लोग गिरफ्तार
रेवाड़ी । हरियाणा पुलिस द्वारा मोबाइल टावर, खडे वाहनों व अन्य स्थानों से बैट्री चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड करते हुए इसके 10 सदस्यों को जिला रेवाडी से गिरफतार करने में सफलता हासिल की गई है।

इस संबंध में जानकारी देते हुए पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने यहां बताया कि बैट्री चोर गिरोह के सदस्यों को कसौला थाना पुलिस ने नाईट डोमिनेशन अभियान के दौरान आसलवास गांव के निकट लूट की योजना बनाते हुए गिरफ्तार किया गया है। अदालत में पेश कर आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान आरोपियों ने जिला रेवाडी में बीस से ज्यादा चोरी की वारदातों का खुलासा किया है। रिमांड के दौरान शुरूआती जांच में आरोपियों से लाखों रूपये का चोरी किया हुआ माल भी बरामद किया जा चुका है।

उन्होंने बताया कि इस गिरोह के अधिकांश सदस्य पड़ोसी राज्य राजस्थान के रहने वाले है जिनकी पहचान जिला राजसमंन्द निवासी गणपत, भीलवाडा निवासी ओमा उर्फ ओमप्रकाश व लक्ष्मण, अलवर निवासी आकाश, अजमेर निवासी रत्तन व कान्हा, सोनीपत निवासी मोनू, रेवाडी के बावल निवासी संजय व महेश, गाजियाबाद निवासी शाहिद के रूप मे हुई है।

उन्होंने बताया कि जिले में मोबाइल टावर, खडे वाहनों व अन्य स्थानों से बैट्री चोरी होने की वारदातें सामने आ रही थी। कई बार गिरोह को पकड़ने के लिए प्रयास किए गए लेकिन, सफलता नाईट डोमिनेशन अभियान के दौरान हाथ लगी। गिरोह के सभी सदस्य पहले रेकी करते थे और उसके बाद रात के समय वारदात को अंजाम देते थे। अकेले रेवाडी जिला के ही थाना बावल क्षेत्र से 4, थाना कसौला क्षेत्र से 3, थाना रोहडाई क्षेत्र से 2, मॉडल टाउन, रामपुरा व सदर थाना क्षेत्र से एक-एक बैट्री चोरी की वारदात को अंजाम दे चुके है। इसके अलावा भी आरोपियों ने कुछ अन्य स्थानों पर वारदातें की है जिनके बारे मे रिमांड के दौरान पूछताछ की जा रही है।

प्रवक्ता ने बताया कि गिरोह के सदस्य वाहन के जरिये वारदात स्थल पर पहुंचते थे तथा कटर की मदद से किसी भी वाहन या मोबाइल टावर मे लगी बैट्री को एक झटके मे उखाड कर फरार हो जाते थे। उन्होंने बताया कि चोरी के माल को गिरोह एक स्थान पर इक्कठा कर उसके बाद किसी दूसरे राज्य मे ले जाकर बेच देते थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement