Azam said, if he had to sue, then Qutub Minar and Taj Mahal would have been stolen-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 16, 2022 6:38 pm
Location
Advertisement

आजम बोले, मुकदमा कराना था तो कुतुबमीनार और ताजमहल चोरी का कराते

khaskhabar.com : रविवार, 19 जून 2022 09:43 AM (IST)
आजम बोले, मुकदमा कराना था तो कुतुबमीनार और ताजमहल चोरी का कराते
आजमगढ़ । समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम खान ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा और कहा कि मेरे खिलाफ सैकड़ों मुकदमे दर्ज हैं। कहा कि अगर मुकदमा कराना ही था तो कुतुबमीनार और ताजमहल चोरी का कराते। शनिवार को सपा के वरिष्ठ नेता आजम खां का आजमगढ़ उपचुनाव में प्रचार के लिये पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने नसीरपुर और मुबारकपुर में जनसभा को संबोधित किया। कहा कि किताबें, फर्नीचर और मुर्गी चोरी ही नहीं, डकैती की धाराएं भी हमारे ऊपर लगाई गई हैं। सूबे और आपकी बेहतरी के लिए हमने और हमारे अपनों ने क्या-क्या नहीं सहा। अगर मुकदमा कराना ही था तो कुतुबमीनार और ताजमहल चोरी का कराते।

सपा के वरिष्ठ नेता आजम खां ने कहा कि भाजपा ने मुल्क को आग के हवाले कर दिया है। देश में घृणा का माहौल है। लोग एक दूसरे के घर और मुहल्लों में जाने से डर रहे हैं। बस और ट्रेन की यात्रा करने से घबरा रहे हैं। वर्तमान समय में जो हालात हैं। वह आप लोगों के सामने है।

अपनी व्यथा जनता को सुनाते हुए आजम ने कहा कि मैं 27 महीने जेल में रहा। मुझे एक कोठरी में बंद किया गया था। बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा था। मेरे स्थान पर कोई दूसरा होता तो आत्महत्या कर लेता। लेकिन मैं धैर्य से सारे जुल्म सहता रहा।

आजम खां ने कहा कि जिस देश का बादशाह झूठ बोल रहे हो। उससे कैसी उम्मीद की जा सकती है। उन्होंने कहा कि देश का मुखिया आठ वर्षों से जनता को गुमराह किया है। मैं आप लोगों से कुछ अलग से मांगने नहीं आया हूं। इस चुनाव नतीजे से न कोई सरकार बनने वाली है, न गिरने वाली है। लेकिन इतना जरूर है कि सपा का उम्मीदवार जीतने के बाद रामपुर में चले बुलडोजर का हिसाब अवश्य हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कुछ लोग मुझे आजमगढ़ न आने का मैसेज दिया था। मेरा यहां आना उनके लिए भी एक मैसेज है।

ज्ञात हो कि लोकसभा उपचुनाव ज्यों-ज्यों करीब आ रहा है, उतने ही जोर शोर से प्रचार प्रसार में प्रत्याशी जी जान से लगे हुए हैं। जीत हासिल करने के लिए प्रत्याशी पूरा जोर लगाए हुए हैं। एक तरफ जहां उनके द्वारा मतदाताओं के घर-घर पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं उनके द्वारा भगवान के दरबार में मत्था टेककर जीतकर की दुआ भी मांगी जा रही है।

आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में त्रिकोणीय संघर्ष के आसार नजर आ रहे हैं। बसपा, सपा और भाजपा प्रत्याशी जीत के लिए अपना पूरा जोर लगाए हुए हैं। सपा और भाजपा के दिग्गज नेता जहां कई दिनों से जिले में अपना डेरा जमा चुके हैं। वहीं बसपा के भी दिग्गज नेताओं का आना शुरू हो गया है। 23 जून को मतदान होना है।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement