Autonomy Minister Shanti Dhariwal reviews meeting of smart city project-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Feb 23, 2020 10:06 am
Location
Advertisement

स्वायत शासन मंत्री शान्ति धारीवाल ने ली स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक

khaskhabar.com : मंगलवार, 21 जनवरी 2020 6:55 PM (IST)
स्वायत शासन मंत्री शान्ति धारीवाल ने ली स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक
जयपुर। स्वायत शासन, मंत्री शान्ति धारीवाल ने कहा कि अजमेर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत वही कार्य हाथ में लिए जाएंगे जिनका जनता को सीधा लाभ मिलता है। कार्यों को समयबद्धता के साथ त्वरित गति से पूर्ण करने का प्रयास होगा।

स्वायत शासन मंत्री मंगलवार को अजमेर जिले के कलेक्ट्रेट सभागार में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जो कार्य जनोपयोगी नहीं है उन्हें हटाकर ऐसे कार्यों को हाथ में लिया जाएगा जो जनता के हित के हों। सभी कार्य समयबद्धता के साथ पूर्ण होंगे ताकि समय पर जनता लाभान्वित हो सके।

उन्होंने बताया कि श्रीनगर रोड से पालबीचला होते हुए तोपदड़ा मार्ग का वैकल्पिक मार्ग तैयार करने के संबंध में प्रस्ताव बनाए जाएंगे। साथ ही नगर निगम को सफाई कार्यों के लिए उपलब्ध सुविधाओं में बढ़ोतरी करते हुए नए उपकरण एवं साधनों की खरीद भी की जाएगी। उन्होंने बताया कि आनासागर झील में गंदे नालों के पानी को रोकने के लिए भी त्वरित गति से कार्य होगा। इन नालों को एसटीपी से जोड़ा जाएगा ताकि झील स्वच्छ रह सके। शहर में सिवरेज कनेक्शनों को देने का भी युद्ध स्तर पर कार्य होगा। लगभग 90 प्रतिशत घरों को सिवरेज से जोड़ दिया जाएगा। वर्तमान में 35 हजार से अधिक घरों को जोड़ा जा चुका है।

धारीवाल ने बताया कि अजमेर शहर में चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार के लिए जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय में मेडिकल ब्लॉक बनाया जाएगा। साथ ही वहां मल्टीलेवल पार्किंग भी बनाई जाएगी। जिस पर लगभग 41 करोड़ रुपए व्यय होंगे। इससे यहां आने वाले मरीजों को एक ही स्थान पर अपने ईलाज एवं जांच की समस्त सुविधाएं उपलब्ध हो सकेगी। शहर के यातायात व्यवस्था सुचारू बनाए रखने के लिए विभिन्न 9 स्थानों पर पार्किंग का निर्माण भी करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि पर्यावरण की शुद्धता के लिए तीन नए पार्कों को भी नए सिरे से बनाया जाएगा। वहीं अरबन फोरेस्ट के तहत नाग पहाड पर सघन पौधरोपण होगा।

उन्होंने बताया कि शहर में पुरातत्व महत्व के भवनों के जीर्णोद्धार एवं सौन्दर्यीकरण के लिए भी कार्य होगा। इसके लिए अकबरी किला, बारादरी के भवन को भी सम्मिलित किया जाएगा। शहर में पेयजल की समस्या के समाधान के लिए 49 करोड़ प्रोजेक्ट के तहत व्यय होगे। इससे नागफनी, मिस्त्री मौहल्ला सहित संबंधित क्षेत्राें में पेयजल की समस्या का समाधान होगा। उन्होंने बताया कि शहर के सभी प्रवेश मार्गों को चौड़ा किया जाएगा। वहीं पटेल स्टेडियम में खिलाड़ियों की सुविधाओं में बढ़ोतरी के लिए 40 करोड़ रुपए व्यय कर इसको विकसित किया जाएगा। इसके साथ ही लैक फ्रन्ट के सौन्दर्यीकरण, बर्ड पार्क विकसित करने तथा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को प्रभावी बनाने की दिशा में भी कार्य होगा। उन्होंने बताया कि सभी कार्य समय पर पूर्ण होंगे तथा सभी को स्मार्ट सिटी का पूरा -पूरा लाभ मिल सकेगा।

बैठक में स्वायत शासन विभाग के शासन सचिव भवानी सिंह देथा ने बताया कि शहर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत समस्त कार्य समयबद्धता के साथ पूर्ण कराने का प्रयास किया जाएगा ताकि आमजन को इसका लाभ मिल सके।

इस मौके पर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं नगर निगम की आयुक्त चिन्मयी गोपाल ने प्रोजेक्ट के तहत पूर्ण हो चुके कार्यों, प्रगतिरत कार्यों, निविदाधीन कार्यों तथा डीपीआर निर्माणाधीन कार्यों की विस्तार से जानकारी दी।

बैठक में अजमेर विकास प्राधिकरण के आयुक्त गौरव अग्रवाल ने एडीए की विभिन्न योजनाओं की प्रगति एवं प्रस्तावित योजनाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

बैठक में जिला कलक्टर विश्व मोहन शर्मा, जिला पुलिस अधीक्षक कुं. राष्ट्रदीप, उपवन संरक्षक सुदीप कौर, उपखण्ड अधिकारी अर्तिका शुक्ला, समस्त जिला स्तरीय अधिकारी तथा स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement