Ashok Gehlot Govt Of Rajasthan To Stop The Agitation Locust From Pakistan Barmer-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 12, 2020 11:35 pm
Location
Advertisement

PAK से 26 साल बाद आई ये आफत! सरकार ने बॉर्डर पर उतारी अफसरों की फौज

khaskhabar.com : शुक्रवार, 19 जुलाई 2019 7:55 PM (IST)
PAK से 26 साल बाद आई ये आफत! सरकार ने बॉर्डर पर उतारी अफसरों की फौज
बाड़मेर। पाकिस्तान से आई आफत ट‍िड्डी (Grasshoppers) को रोकने के लिए राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Govt) ने कृषि विभाग की पूरी फौज को बाड़मेर जिले में फील्ड में उतार दिया है। अब तक भारत पाक सीमा से जुड़े 28 जिलों में टिड्डी ने जबरदस्त तरीके से आतंक मचा रखा है। वहीं, बाड़मेर प्रशासन का यह दावा है कि अभी हालात कंट्रोल में है।

पश्चिमी राजस्थान में टिड्डी से पूरी तरह से निपटने के लिए वाकई में पसीने छूट रहे हैं। वहीं, किसानों और ग्रामीणों के लिए टिड्डी के बाद अब फाके के पनपने की चिंता भी बढ़ गई है। उस पार से मौसम में आई नरमी के कारण फाके के टिड्डी में बदलने से ज्यादा देर नहीं लगेगी।

करोड़ों की संख्या में टिड्डी के हमले की आशंका के चलते गहलोत सरकार ने राजस्थान के कई जिले की कृषि विभाग के अधिकारियों को बाड़मेर में बॉर्डर के गांवों में उतार दिया है। राजस्थान सरकार के कृषि विभाग से जुड़े कई दर्जन बड़े अफसर इन दिनों बाड़मेर में डेरा डाले हुए हैं जो कि इन सब हालातों पर नजर बनाने के साथ ही टिड्डी पर नहीं उस फाके पर भी काम कर रहे हैं।

बाड़मेर के अत‍िर‍िक्त ज‍िला कलेक्टर राकेश शर्मा कहना है क‍ि विभाग यह दावा कर रहा है कि टिड्डी नियंत्रण में हैं। बाड़मेर जिले के 28 गांवों में टिड्डी ने दस्तक दी थी जिनको चिंहित कर नियंत्रण किया जा रहा है। सरहद में पिछले 2 दिनों से बड़ी संख्या में जमीन से फाका निकल रहा है। इसको लेकर ग्रामीणों ने उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया तो टिड्डी नियंत्रण दल की टीम ने यहां कीटनाशक दवाई का छिड़काव किया। जहां सूचना मिल रही है, वहां विभाग की ओर से नियंत्रण का कार्य किया जा रहा है।

बता दें, 1993 के बाद इस बार फिर से टिड्डी ने राजस्थान के किसानों की चिंता बढ़ा दी है। वहीं, सरकार का दावा है कि सब कुछ नियंत्रण में है। ग्रामीणों और बॉर्डर के इलाकों में टिड्डी पनपने का खतरा बरकरार नजर आ रहा है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement