Anemia free campaign in Haryana brand ambessdar is Miss World Manushi Chillar-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 12, 2020 7:11 am
Location
Advertisement

हरियाणा में एनिमिया मुक्त अभियान,ब्रांड एम्बेंसडर मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर होंगी

khaskhabar.com : शुक्रवार, 01 दिसम्बर 2017 12:49 PM (IST)
हरियाणा में एनिमिया मुक्त अभियान,ब्रांड 
एम्बेंसडर मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर होंगी
चण्डीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में लड़कियों और महिलाओं में एनिमिया की समस्या को देखते हुए राज्य में एनिमिया मुक्त अभियान चलाया जाएगा, जिसकी ब्रांड एम्बैसडर मिस वल्र्ड मिस मानुषी छिल्लर होंगी। इसके अलावा, मुक्चयमंत्री ने कहा कि हरियाणा के स्कूलों में, विशेषकर लड़कियों के लिए निशुल्क सेनिटरी नैपकिन की आपूर्ति भी की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने ये घोषणाएं यहां कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के अवसर पर मिस वल्र्ड चुनी गई हरियाणा की बेटी मिस मानुषी छिल्लर की उपस्थिति में पत्रकारों से बातचीत करते हुए की।

उन्होंने कहा कि मानुषी छिल्लर ‘शक्ति’ नामक परियोजना पर कार्य कर रही हैं, जो युवतियों की माहवारी की समस्या से जुड़ी है। इस परियोजना में योगदान देने के लिए हरियाणा सरकार भी आगे आई है, जिसके तहत सरकार द्वारा स्कूलों में लड़कियों हेतु सेनिटरी नैपकिन की सप्लाई मुफ्त में की जाएगी जिस पर लगभग 18 करोड़ रुपए खर्च आएगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में 61 प्रतिशत लड़कियों व महिलाओं में एनिमिया की समस्या है, जो आयरन इत्यादि की वजह से होती है। इस समस्या को समाप्त करने के लिए राज्य सरकार द्वारा एनिमिया मुक्त हरियाणा अभियान चलाया जाएगा, जिसके लिए मिस वल्र्ड मानुषी छिल्लर को ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया है।

मुख्यमंत्री ने मानुषी छिल्लर का स्वागत करते हुए कहा कि उन्होंने हरियाणा और देश का गौरव बढ़ाया है। उन्होंने मिस वल्र्ड संस्था की प्रमुख जूलिय इवलिन मारले का भी कुरुक्षेत्र की धरती पर स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मिस वल्र्ड मानुषी छिल्लर से अंतिम प्रश्न में यह पूछा गया कि किस पेशे में सबसे ज्यादा वेतन मिलेगा। इस पर इन्होंने जवाब दिया कि माँ का प्रोफैशन सबसे बड़ा प्रोफैशन है, जिसमें प्यार व ममता का दुलार होता है और इस पेशे की कोई कीमत नही है, जिस कारण मानुषी छिल्लर को यह खिताब मिला।

इस मौके पर मिस वल्र्ड मानुषी छिल्लर ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल और अन्य लोगों का अभिनंदन करते हुए कहा कि वे आभारी है कि ये सभी लोग उनसे मिलने आए हैं। उन्होंने कहा कि वे हरियाणा वे जन्मी है, हरियाणा में ही शिक्षा प्राप्त कर रही हैं और वर्तमान में हरियाणा के खानपुर से वे मेडिकल की शिक्षा ले रही हैं। खानपुर महिलाओं के लिए जाना जाता है, जहां पर लिंगानुपात की दर में भी इजाफा हुआ है। उन्होंने कहा कि कई दशकों से हरियाणा में लिंगानुपात को बढ़ाने की बात की जा रही थी परन्तु मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगुवाई में वर्तमान सरकार लिंगानुपात पर कार्य कर रही है, जिससे महिलाओं, माताओं और बेटियों का सक्वमान बढ़ा है।

उन्होंने कहा कि मिस वल्र्ड संस्था की प्रमुख जूलिया इवलिन मारले ने उनका मार्गदर्शन किया और युवा लड़कियों को प्रोत्साहित किया, जिसमें वे भी शामिल थी। उन्होंने कहा कि जूलिया मारले के अनुसार हरियाणा की लड़कियों को कुछ करना चाहिए और भारत की लड़कियों को वे आगे ले जा सकती हैं।

गीता से सम्बन्धित एक प्रश्न के उत्तर में मानुषी छिल्लर ने कहा कि उनके माता-पिता ने उन्हें गीता से सम्बन्धित सीख दी थी कि कर्म करो, फल की चिंता मत करो अर्थात हम कैसे आगे बढ़ सकते हैं। मानुषी छिल्लर से मिस वल्र्ड का खिताब जीतने के उपरांत ग्लैमर की दुनिया में प्रवेश करने से सम्बन्धित पूछे गए प्रश्न के उत्तर में मानुषी ने कहा कि अब तक देश में पांच मिस वल्र्ड बनी हैं, जिनमें से दो मिस वल्र्ड ग्लैमर अर्थात बॉलीवुड में गई हैं और जो देश की सबसे पहली मिस वल्र्ड बनी थी, वे आज भी डॉक्टर हैं। उन्होंने कहा कि सुंदरता के साथ-साथ उद्देश्य का होना भी जरूरी है और वे एक साधारण लडक़ी हैं और उन्हें जो परियोजनाएं दी गई हैं, वे उन पर कार्य कर रही हैं। इसके अलावा वे अन्य लड़कियों को भी प्रोत्साहित करेंगी कि उन्होंने जो सपना देखा है, वे उसे पूरा करें और हर लडक़ी को सपना देखना चाहिए, उससे डरना नही चाहिए और उसे जरूर पूरा करें।

मिस वल्र्ड संस्था की प्रमुख जूलिया इवलिन मारले ने कहा कि मिस वल्र्ड प्रतियोगिता में 190 देशों ने भाग लिया और मानुषी छिल्लर को जो परियोजना दी गई थी, वे उस पर कार्य कर रही हैं। उन्होंने लड़कियों के बारे में कहा कि किसी भी लडक़ी या महिला को अपने ऊपर व अपने परिवार के ऊपर विश्वास होना चाहिए। उन्होंने कहा कि लड़कियों को सहयोग देना शुरू करें और हमने भी मानुषी छिल्लर को सहयोग दिया, जिस कारण वे यह खिताब अपने बल पर जीत पाई। इसी प्रकार हम सबको मिलकर कार्य करना चाहिए ताकि लड़कियां आगे बढ़ सकें।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement