All the departments should work together to create awareness of child protection. - Siddhu-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 6, 2021 6:07 am
Location
Advertisement

बाल सुरक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए सभी विभाग मिलकर कार्य करें-.सिद्धू

khaskhabar.com : गुरुवार, 31 मई 2018 6:16 PM (IST)
बाल सुरक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए सभी विभाग मिलकर कार्य करें-.सिद्धू
एस.ए.एस. नगर (मोहाली)। बाल सुरक्षा को महत्व देते हुए बच्चों के विरुद्ध अपराधों के प्रति जागरूकता पैदा करने और बच्चों से संबंधित विभागों को बाल सुरक्षा के लिए उठाए जाने वाले कदमों संबंधी अवगत करवाने के लिए आज पंजाब राज्य बाल सुरक्षा सोसाईटी द्वारा नोबल पुरुस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी की संस्था ‘बचपन बचाओ आंदोलन’ के साथ मिलकर एक दिवसीय वर्कशाप आयोजित की गई। मोहाली के फेज़-6 स्थित स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण स्टेट इंस्टीट्यूट के ऑडीटोरियम में करवाई इस वर्कशॉप में महिला एवं बाल विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य, श्रम, कानूनी अथॉरिटी और पुलिस विभाग के जि़ला स्तरीय अधिकारियों ने भाग लिया।

वर्कशॉप का उद्घाटन करते हुए सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास के विशेष मुख्य सचिव के.बी.एस. सिद्धू ने अपने मुख्य भाषण में कहा कि पंजाब में बाल सुरक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करने की दिशा में उस समय अहम कदम उठाया गया था जब पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नोबेल पुरुस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी के बीच मीटिंग हुई। उन्होंने कहा कि उस मीटिंग के निष्कर्ष के तौर पर पंजाब सरकार की तरफ से शुरू की कोशिशों के अंतर्गत आज यह वर्कशॉप करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि यह पहला मौका है जब बच्चों से संबंधित सभी विभागों के जि़ला स्तरीय अधिकारी इकठ्ठा मिले हैं। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को कहा कि बच्चों के प्रति खुशहाल माहौल सृजन किया जाये जिसके लिए बाल सुरक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करना समय की सबसे बड़ी ज़रूरत है।

सिद्धू ने अपने निजी जीवन के दौरान विभिन्न प्रशासकीय ओहदों पर काम करते हुए हासिल हुए तजुर्बे साझे करते हुए कहा कि बच्चों की सुरक्षा के लिए कानून में व्यवस्थाएं बहुत हैं परन्तु सिर्फ ज़रूरत है इनको लागू करने की। उन्होंने कहा कि बच्चों संबंधी एक बात कही जाती है कि बच्चे ईश्वर का रूप होते हैं और इसी सच्चाई को समझते हुए बच्चों के प्रति हमें सकारात्मक सोच अपनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपनी सच्ची जि़म्मेदारी को समझते हुए सिविल सोसायटी और ग़ैर सरकारी संस्थाओं के साथ मिलकर बच्चों की बेहतरी के लिए कदम उठाऐं। उन्होंने कहा कि आज की वर्कशाप इस दिशा में एक शुरुआत है जिसके अच्छे निष्कर्ष निकलेंगे।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement