6 farmers of UP ordered to fill 50-50 lakh bond-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 6, 2021 6:02 am
Location
Advertisement

यूपी के 6 किसानों को 50-50 लाख का बॉंड भरने का आदेश, आखिर क्यों,यहां पढ़ें

khaskhabar.com : शुक्रवार, 18 दिसम्बर 2020 2:29 PM (IST)
यूपी के 6 किसानों को 50-50 लाख का बॉंड भरने का आदेश, आखिर क्यों,यहां पढ़ें
संभल । उत्तर प्रदेश के संभल जिले में छह किसान नेताओं को नोटिस जारी किए गए हैं। नोटिस में आशंका जताई गई है कि वो राज्य में शांति भंग कर सकते हैं, इसलिए उन्हें 50 लाख रुपये का निजी बॉंड भरना होगा। जिन छह किसानों को नोटिस दिया गया है, उनमें भारतीय किसान यूनियन (असली) के जिला अध्यक्ष राजपाल सिंह यादव और किसान नेता जयवीर सिंह, ब्रह्मचारी यादव, सत्येंद्र, रोहदास और वीर सिंह शामिल हैं।

हालांकि, नोटिस दिए जाने के दो दिन बाद, सर्किल अधिकारी अरुण कुमार सिंह ने कहा कि यह राशि एक 'क्लर्कियल एरर (लिपिक द्वारा की गई त्रुटि)' थी और इसे कम कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा, "एसडीएम इस समय छुट्टी पर हैं और एक बार जब वह वापस आएंगे तो हम त्रुटि को सुधार लेंगे और इसे 50,000 रुपये का बॉन्ड बनाएंगे, क्योंकि पहले एक लिपिक त्रुटि थी।"

संभल के एसडीएम दीपेंद्र यादव द्वारा जारी किए गए नोटिस में कहा गया है, "दिल्ली और अन्य किसान आंदोलन में जो कुछ हो रहा है, उसके संदर्भ में, छह लोग एक गांव से दूसरे गांव जा रहे हैं और किसानों को गलत जानकारी दे रहे हैं, जिससे क्षेत्र में शांति भंग हो सकती है।"

नोटिस के अनुसार, "हम इस संबंध में स्थानीय पुलिस स्टेशन की रिपोर्ट से संतुष्ट हैं। इसलिए कारण बताने का आदेश दिया गया है कि एक साल के लिए शांति बनाए रखने हेतु किसानों से क्यों नहीं 50 लाख रुपये की गारंटी और इतने ही रुपये की जमानत राशि लेनी चाहिए।

किसान तीन विवादास्पद कृषि बिलों को लेकर जिले में प्रदर्शन कर रहे हैं।

उप-प्रभागीय मजिस्ट्रेट दीपेंद्र यादव ने संवाददाताओं को बताया, "हमें हयातनगर पुलिस स्टेशन से एक रिपोर्ट मिली है कि कुछ लोग किसानों को उकसा रहे हैं और इससे शांति भंग हो सकती है, और उनसे व्यक्तिगत बांड भरने के लिए कहा जाना चाहिए।"

अधिकारी ने कहा कि पुलिस की ओर से एक रिपोर्ट के आधार पर दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 111 के तहत नोटिस जारी किए गए हैं।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement