550Th Birth Anniversary of Guru Nanak : More than 3200 crore rupees cost work started in punjab-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 16, 2019 7:32 pm
Location
Advertisement

गुरु नानक की 550वीं जयंती : पंजाब में 3200 करोड़ से ज्यादा की लागत वाले कार्य शुरू

khaskhabar.com : रविवार, 10 नवम्बर 2019 3:22 PM (IST)
गुरु नानक की 550वीं जयंती : पंजाब में 3200 करोड़ से ज्यादा की लागत वाले कार्य शुरू
चंडीगढ़। सदाचार अपने आप में ईश्वर की स्तुति है। यह पहले सिख गुरु-गुरु नानक देव की वाणी है, जिनकी 550वीं जयंती 12 नवंबर को देशभर में मनाई जाएगी। उनकी कई वाणियों में से एक है, गुरु ईश्वर है, अवर्णनीय, अप्राप्य। वह जो गुरु का अनुसरण करता है, ब्रह्मांड की प्रकृति को समझ लेता है।

गुरु नानक देव के तीन मार्गदर्शक सिद्धांत हैं : नाम जपना, किरत करनी, वंद छकाना अर्थात ईश्वर का नाम जपना, अपने हाथों के श्रम में संलग्न होने के लिए तैयार रहना और आपने जो कुछ भी एकत्रित किया है उसे दूसरों के साथ साझा करने के लिए तैयार रहना, इन्हें सिख नैतिकता और जीवन को जीने के सिद्धांत कहे जाते हैं।

पंजाब सरकार द्वारा 23 नवंबर, 2018 से बेहद श्रद्धा और उत्साह के साथ उनकी 550वीं जयंती मनाई जा रही है। 1 से 12 नवंबर के बीच सुल्तानपुर लोधी शहर में मुख्य समारोह का आयोजन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा राज्यभर में 3200 करोड़ से अधिक की लागत वाली विभिन्न विकासात्मक कार्य शुरू किए गए हैं।

सरकार के एक प्रवक्ता ने आईएएनएस को बताया कि गुरु नानक देव द्वारा दौरा किए गए 70 गांवों और कस्बों में विशेष परियोजनाएं शुरू की जा रही हैं। गुरु नानक देव सिख धर्म के पहले गुरु और संस्थापक हैं, इसके साथ ही वे एक कवि, एक घुमंतू उपदेशक, एक समाज सुधारक और एक गृहस्थ थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement