Why are immoral physical relations formed, a look at those reasons -m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 21, 2022 2:10 pm
Location
Advertisement

क्योंकर बनते हैं अनैतिक शारीरिक सम्बन्ध, एक नजर उन कारणों पर

khaskhabar.com : गुरुवार, 06 जनवरी 2022 11:13 AM (IST)
क्योंकर बनते हैं अनैतिक शारीरिक सम्बन्ध, एक नजर उन कारणों पर
हमें आए दिन समाचार पत्रों व सोशल मीडिया पर महिलाओं और पुरुषों के अनैतिक सम्बन्धों के बारे में समाचार मिलते रहते हैं। इन मामलों में ज्यादातर में हत्या तक के समाचार होते हैं। क्षणभर में पाठक इन समाचारों को पढक़र भूला देता है। वह यह नहीं सोचता कि आखिर ऐसा क्या कारण है कि कोई पुरुष या महिला अपने पति या पत्नी को छोडक़र किसी और के साथ अनैतिक सम्बन्धों को बनाता है। हर स्त्री और पुरुष को शारीरिक सम्बन्धों की आवश्यकता होती है। यह उसी प्रकार है जिस प्रकार हमें रोज भोजन की जरूरत होती है। अपने पति या पत्नी को छोडक़र कोई भी स्त्री या पुरुष दूसरे व्यक्ति की तरफ तभी आकर्षित होता है जब वो अपने साथी से असन्तुष्ट रहता है। पिछले कुछ समय से समाचार पत्रों में इस सम्बन्ध में जो भी समाचार आए हैं उनमें आरोपी पत्नी ही निकल रही है।
महिलाएँ या पुरुष क्योंकर किसी के साथ अनैतिक सम्बन्ध बनाते हैं आइए डालते हैं एक नजर उन कारणों पर—
जरूरतों को पूरा न कर पाना और तनाव से मुक्ति पाना

आज की उपभोगतावादी संस्कृति में हर कोई अपनी जिन्दगी को ऐशो-आराम के साथ गुजारना पसन्द करता है। विशेष रूप से महिलाएँ इस मामले में पुरुषों से ज्यादा आगे होती हैं। हर पत्नी चाहती है कि उसका पति उसे दुनिया का हर सुख और आराम प्रदान करें। ऐसे में यदि कोई पति अपनी पत्नी की इच्छाओं को उतनी तीव्रता से पूरा नहीं कर पाता है तो दोनों में मनमुटाव शुरू होता है जिसका परिणाम अनैतिक सम्बन्धों का बनना होता है। पुरुष आए दिन के इस तनाव को जब बर्दाश्त नहीं कर पाता है तो वह उस महिला की ओर आकर्षित होता है जो उसे अपने विचारों को समझने के काबिल लगती है। ऐसे में अनैतिक सम्बन्धों का रिश्ता कायम होता है।
एक-दूसरे को समय न दे पाना
कई पुरुष अपने काम की व्यस्तता के चलते या किसी दूसरे शहर में सरकारी या प्राइवेट नौकरी के चलते अपनी पत्नी को समय नहीं दे पाते हैं जिसके चलते महिला अपना अकेलापन दूर करने के लिए दूसरे मर्द की ओर आकर्षित होती है। ऐसा ही कुछ महिलाओं के साथ भी होता है। अपने घर-परिवार, सास-ससुर व बच्चों की सेवा, परवरिश करते हुए वह अपने पति की इच्छाओं को पूरा करने में स्वयं को असमर्थ पाती है, नतीजा पुरुष अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए पर-स्त्री गमन करता है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement