Son sentenced father such a way that seemed as lost of life-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 29, 2020 5:42 am
Location
Advertisement

बेटे के कर्मों की सजा बाप ने कुछ ऐसे भुगती कि जान ही गंवानी पड़ी

khaskhabar.com : शुक्रवार, 29 जून 2018 6:27 PM (IST)
बेटे के कर्मों की सजा बाप ने कुछ ऐसे भुगती कि जान ही गंवानी पड़ी
भिवानी। एक कहावत है कि करे कोई और भरे कोई। ये कहावत भिवानी के सांगा गांव में देखने को मिली, जहां अपने बेटे पर लगे छेङखानी के आरोपों से आहत एक पिता ने खेतों में पेङ से फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली। फिलहाल पुलिस ने मृतक की पत्नी की शिकायत पर लङकी पक्ष के चार लोगों के खिलाफ पर्चा दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

बताया जाता है कि गांव सांगा में तीन रोज पहले एक व्यक्ति ने अपनी बेटी के साथ छेङखानी करने पर पङोस के ही एक युवक सुरेश के खिलाफ सदर थाना में पर्चा दर्ज करवाया था। बताया जाता है कि आरोपित सुरेश के पिता दीपचन्द ने इस मामले को लेकर लङकी व उसके पिता से बार-बार माफी मांगी और मामले को रफा-दफा करने की गुहार लगाई। लङकी व उसके पिता ने केस वापस लेने से मना कर दिया।

अपने बेटे पर लगे छेङखानी के आरोपों से दीपचन्द काफी आहत था। इसी को लेकर दीपचन्द ने 28 जून की रात को अपने खेतों में जाकर शीसम के पेङ से फंद लगा कर आत्महत्या कर ली। परिजन जब शुक्रवार को सुबह खेत गए तो उनके पैरों तले जमीन खीसक गई। परिजनों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी और दीपचन्द के शव को पोस्टमार्टम के लिए चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पाल लाया गया।

ग्रामीण महेन्द्र ने बताया कि दीपचन्द बहुत ही शरीफ इंसान था और वह अपने बेटे पर लगे छेङखानी के आरोपों से आहत था। महेन्द्र ने बताया कि दीपचन्द अपने बेटे की हरकत से शर्मिंदा था और चाहता था कि ये मामला बढने की बजाय गलती मान कर और आगे से ऐसा ना करने की माफी मांग कर खत्म करवाना चाहता था। उन्होने बताया कि छेङखानी का आरोप लगाने वाले लङकी पक्ष के लोग नहीं माने, जिससे आहत और शर्मिंदा होकर दीपचन्द ने खेतों में पेङ से फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली।

वही मामले की जांच कर रहे एएसआई सत्यनारायण वत्स ने बताया कि 26 जून को सांगा निवासी एक व्यक्ति ने अपनी नाबालिग लङकी से छेङखानी करने के आरोप में पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज करवाया था। उन्होने बताया कि मृतक की पत्नी ज्ञाना देवी ने शिकायत दी है कि इसी मामले के चलते दीपचन्द ने आत्महत्या की है। उन्होंने बताया कि इस मामले में लङकी पक्ष के चार लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कर जांच की जा रही है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement