New initiative for improvement in Rajasthan jail through innovations, accidental searches 2700 times-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Mar 2, 2021 9:48 pm
Location
Advertisement

राजस्थान में जेल व्यवस्था में नवाचारों से सुधार की नई पहल, 2700 बार आकस्मिक तलाशी

khaskhabar.com : शनिवार, 23 जनवरी 2021 3:42 PM (IST)
राजस्थान में जेल व्यवस्था में नवाचारों से सुधार की नई पहल, 2700 बार आकस्मिक तलाशी
जयपुर। राज्य की जेलों की व्यवस्था में नवाचारों के लिए सुधार की नई पहल की जा रही है, ताकि जेलों की स्थिति को बेहतर बनाया जा सके और राज्य की जेल देश की लिए उदाहरण बन सके। इसी के तहत जेलों में मोबाइल एवं निषिद्ध वस्तुओं की रोकथाम के लिए ‘ऑपरेशन फ्लश आउट’ अभियान चलाया जा रहा है।

महानिदेशक (जेल) राजीव दासोत ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जेल प्रशासन में भ्रष्टाचार, मिलीभगत और अपराध प्रवृतियों के प्रति जीरो टॉलरेन्स की नीति अपनाने के निर्देश दिए थे। इन्ही निर्देशों के क्रम में 20 नवंबर से ऑपरेशन फ्लश आउट अभियान चलाया गया है। अभियान के तहत जेल, पुलिस एवं एसओजी की ओर से जेलों में 50 दिन में 2700 बार आकस्मिक सघन तलाशी ली गई। दिन एवं रात में की गई तलाशी के दौरान 65 मोबाइल फोन, 18 चार्जर, 29 सिमकार्ड, 16 ईयरफोन एवं 8 डाटा केबल बरामद की गई। इन 46 मामलों में कारागार अधिनियम में पुलिस में एफआईआर दर्ज की गई है।

महानिदेशक दासोत ने बताया किजेलों में निषिद्ध वस्तुओं के मिलने पर उत्तरदायित्व का निर्धारण किया गया है। अवाछंनीय वस्तुओं की तस्करी, सुविधाओं के नाम पर वसूली आदि अपराधिक वृतियों में लिप्त जेल कार्मिकों के खिलाफ कार्यवाही की गई है। ऐसे कार्मिकों में 3 को बर्खास्त, 18 को निलंबन, 44 के खिलाफ 16 व 17 सीसीए की कार्यवाही व 20 कार्मिकों का शिकायतन स्थानान्तरण किया गया है। उन्होंने कहा कि 67 कर्मठ कर्मियों को अच्छे कार्य के लिए प्रशंसा पत्र दिया गया है।

बंदी आरामदायक जीवन जेल में नही बिताये, इसके लिए जेल मैनुअल का कडाई से पालना करवाई जा रही है। इस दौरान काफी मात्रा में सामाग्री जब्त (खाद्य एवं अन्य) की गई है। 33 हार्डकोर बंदियों को कम्फर्ट जोन से बाहर निकालकर अन्य जेलों में स्थानान्तरित किया गया है, ताकि जेलों में आरामदायक जीवन एवं अपराधियों के गठजोड़ की संभावना को समाप्त किया जा सके। जेलों में सुधार की नई शुरूआत से पुलिस को भी मदद मिल रही है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement