Is the crash course enough to crack SSC CGL?-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 30, 2020 1:13 am
Location
Advertisement

क्या क्रैश कोर्स SSC CGL को क्रैक करने के लिए पर्याप्त है?

khaskhabar.com : शुक्रवार, 06 मार्च 2020 5:34 PM (IST)
क्या क्रैश कोर्स SSC CGL को क्रैक करने के लिए पर्याप्त है?
यूपीएससी (UPSC) के बाद जितने भी बड़े सरकारी पद हैं वो एसएससी सीजीएल (SSC CGL) यानि कर्मचारी चयन आयोग की संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा के बाद प्राप्त होते हैं। यही वजह है कि एसएससी सीजीएल परीक्षाओं की तैयारी भारत में कई विद्यार्थियों द्वारा की जाती है। इस परीक्षा मं। पास होकर अच्छे सरकारी पद को पाना हर प्रतियोगी का सपना होता है। कुछ लोग देश की सेवा के लिए तो कुछ एक अच्छी जिंदगी जीने के लिए एसएससी सीजीएल की तैयारी करते हैं।
इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए क्रैश कोर्स करना भी अब आम बात हो गई है। क्रैश कोर्स करना क्या एसएससी सीजीएल की परीक्षा को क्रैक करने के लिए पर्याप्त है या नहीं, इसके बारे में बात करने से पहले आपको कुछ महत्वपूर्ण जानकारियाँ इस परीक्षा को लेकर देते हैं।

एसएससी सीजीएल क्या है?
कर्मचारी चयन आयोग या स्टाफ सलेक्शन कमिशन द्वारा संयुक्त स्नातक स्तर (CGL) की परीक्षा करवाई जाती है। इस परीक्षा में उत्तीर्ण होकर आपको ग्रुप बी और सी के सरकारी पद जैसे सहायक लेखा परीक्षा अधिकारी, इंस्पेक्टर परीक्षक, आयकर निरीक्षक, केंद्रीय उत्पाद शुल्क परीक्षक आदि प्राप्त होते हैं। SSC CGL की परीक्षा के प्रकार के बारे में बात करें तो यह चार चरणों में पूरी होती है। 2017 के बाद से, पहले और दूसरे चरण की परीक्षा ऑनलाइन यानि कंप्यूटर आधारित कर दी गई है, इसके बाद तीसरे चरण में डिस्क्रिपटिव एग्जाम होता है यानि पेन पेपर का इस्तेमाल इसके लिए परीक्षार्थियों को करना पड़ता है। आखिर में जो टेस्ट होता है उसमें कंप्यूटर से जुड़ी आपकी योग्यता को जाना जाता है, हालांकि यह टेस्ट कुछ ही पदों के लिए लिया जाता है।

पहले और दूसरे चरण में होने वाली परीक्षा में आपकी सामान्य बुद्धिमत्ता, अंग्रेजी ज्ञान और तार्किक क्षमता के बारे में जाना जाता है, यह परीक्षा ऑनलाइन होती है जिसके लिए आपको केवल एक घंटे का समय दिया जाता है। इस परीक्षा में पास होने के बाद आगे की प्रक्रिया होती है। एसएससी सीजीएल की परीक्षा में सवालों के जवाब देने के लिए आपको अपने समय का सही से इस्तेमाल करना आना चाहिेए, यही वजह है कि कई लोग इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए क्रैश कोर्स का सहारा लेते हैं।

क्रैश कोर्स कई मायनों में परीक्षार्थियों के लिए फायदेमंद साबित होता भी है, क्योंकि इसमें पुराने परीक्षा पत्रों को हल करने का आपको मौका दिया जाता है जिससे आप समय का सही इस्तेमाल करना सीख जाते हैं। इसके साथ ही आपके अंदर एक आत्मविश्वास भी जागता है। हालांकि इसका यह अर्थ नहीं है कि क्रैश कोर्स करना इस परीक्षा में पास होने के लिए आवश्यक है। आंकड़ों की मानें तो एसएससी सीजीएल की परीक्षा में पास होने वाले लोगों में 50% ऐसे होते हैं जो बिना किसी क्रैश कोर्स के ही इस परीक्षा में पास हो जाते हैं। क्रैश कोर्स करना उन छात्र/छात्राओं के लिए फायदेमंद रहता है जो सही तरह से अपने समय का प्रबंधन नहीं कर पा रहे हैं। यदि आपके अंदर निष्ठा और लगन है तो आप बंद कमरे में भी इस परीक्षा की तैयारी करने में समर्थ हो सकते हैं।

क्रैश कोर्स करने के फायदे
क्रैश कोर्स करने से आप समय का सही प्रबंधन करना सीखते हैं।
● आपको किस तरह से परीक्षाओं के लिए तैयारी करनी है इसकी सटीक जानकारी आपको मिलती है।
● परीक्षाओं में शामिल होने से पहले ही आपको परीक्षाओं के प्रारुप के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाती है।
● पुराने परीक्षा पत्रों को हल करने का मौका मिलता है, जिससे आपको तैयारी करने में मदद मिलती है।
● आपके अंदर एक आत्मविश्वास जागता है और आप परीक्षाओं का सामना करने के लिए पहले से ही तैयार हो जाते हैं।

क्रैश कोर्स करना क्या एसएससी सीजीएल की परीक्षाओं के लिए पर्याप्त है?
एसएससी सीजीएल (SSC CGL) के लिए क्रैश कोर्स करना तभी पर्याप्त हो सकता है जब आप खुद भी इस परीक्षा को संजीदगी के साथ ले रहे हों और क्रैश कोर्स के अलावा भी पढ़ाई पर ध्यान दे रहे हों। जैसा कि इस लेख में पहले ही बताया जा चुका है कि यदि आपकी बुद्धि खुली हुई है और समय का सही इस्तेमाल करना आपको आता है तो बंद कमरे में बैठकर भी आप इस परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं और सफलता पा सकते हैं। जो लोग इस सहारे बैठे हैं कि क्रैश कोर्स ही उनको सफलता दिलाने के लिए पर्याप्त होगा तो वो कुछ चीजों को लेकर गलत हैं।

एसएससी सीजीएल की परीक्षा में न केवल आपके ज्ञान बल्कि आपके व्यवहार, तार्किक क्षमता, स्मरण शक्ति आदि पर भी ध्यान दिया जाता है और आपके यह पक्ष साक्षात्कार के दौरान परखे जाते हैं। इसलिए परीक्षाओं की तैयारी के साथ-साथ आपको अपने व्यक्तित्व पर भी काम करना होता है और व्यवहार में निखार लाने का तो कोई क्रैश कोर्स होता नहीं है। इसलिए अपने मस्तिष्क में जानकारियों को सलीके से सहेजने के लिए भले ही क्रैश कोर्स आपके लिए फायदेमंद हो लेकिन परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने के लिए यह पूरी तरह से पर्याप्त नहीं हो सकता। क्रैश कोर्स से आपके कुछ पक्ष मजबूत हो सकते हैं लेकिन परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने के लिए आपके व्यक्तित्व में स्पष्टता का होना भी आवश्यक है। चूंकि एसएससी सीजीएल की परीक्षा में पास होने के बाद आप भारत सरकार में उच्च पदों पर पहुंचते हैं इसलिए ज्ञान और स्पष्टता के साथ-साथ आपके चरित्र का अच्छा होना भी अति आवश्यक है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement