Emphasis on increasing employment in China, target to employ 9 million people-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 14, 2020 5:16 am
Location
Advertisement

चीन में रोजगार बढ़ाने पर जोर, 90 लाख लोगों को नौकरी देने का लक्ष्य

khaskhabar.com : सोमवार, 25 मई 2020 08:18 AM (IST)
चीन में रोजगार बढ़ाने पर जोर, 90 लाख लोगों को नौकरी देने का लक्ष्य
बीजिंग। चीन सरकार लोगों को रोजगार के बेहतर मौके प्रदान करने और गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य हासिल करने के लिए पूरी कोशिश कर रही है। बीजिंग में चल रहे दो सत्रों में इसकी झलक भी मिल रही है। और चीन का पूरा ध्यान गरीबी को जड़ से खत्म करने व युवाओं को रोजगार देने पर लगा हुआ है। चीन द्वारा पेश की गयी रिपोर्ट की मानें तो इस साल 90 लाख से अधिक लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

चीन ने गरीबी को खत्म करने और रोजगार देने के लिए कितना काम किया है, यह विश्व बैंक की एक रिपोर्ट से भी पता चलता है। रिपोर्ट के अनुसार, साल 1981 में चीन में गरीबी दर 88 प्रतिशत थी। लेकिन 2018 के आखिर तक यह सिर्फ 1.7 प्रतिशत रह गई। हालांकि इस बार कोविड-19 की महामारी ने पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाया है। ऐसे में चीन को भी कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि चीन सरकार को इस बात का भरोसा है कि संकट के बावजूद वह शहरों में बेरोजगारी दर को 6 फीसदी के दायरे में नियंत्रित करने में सफल रहेगी।

चीन के प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 22 मई को जब सरकारी कार्य रिपोर्ट प्रस्तुत की तो उन्होंने 39 बार रोजगार शब्द का प्रयोग किया। चीन द्वारा हाल के वर्षों में जिस प्रतिबद्धता के साथ लोगों का जीवन बेहतर बनाने की दिशा में कदम उठाए गए हैं।

चीनी नेताओं का कहना है कि साल 2020 में रोजगार की स्थिरता और जन-जीवन को सुनिश्चित करने को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी। शायद चीन ने नीति-निर्धारक यह अच्छी तरह जानते हैं कि गरीबी और बेरोजगारी को कंट्रोल में किए बिना समाज में खुशहाली नहीं लायी जा सकती।

इस दौरान बीजिंग में जारी एनपीसी के सालाना सम्मेलनों में शिरकत कर रहे प्रतिनिधियों ने भी रोजगार बढ़ाने पर जोर दिया है। इसमें ई-कॉमर्स का तेज विकास करने, इलेक्ट्रिक टैक्सी, ई-टैक्सी, टेकअवे फूड आदि क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढ़ाने पर प्रमुख ध्यान देने की वकालत की गयी है।

बताया जाता है कि युवाओं को उद्यम आदि स्थापित करने के लिए लोन दिए जाने पर भी ध्यान रहेगा। इसमें लघु और मझौले उद्योगों में रोजगार बढ़ाने के लिए सब्सिडी देने पर विचार किया जा रहा है। इसके अलावा तकनीक और नवाचार आदि क्षेत्रों में भी युवाओं को अधिक से अधिक मौके देने के लिए काम करने पर चीन का ध्यान केंद्रित रहेगा। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement