Lootcase director felt like kindergarten kid at Harvard amid seasoned cast-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 22, 2020 3:18 pm
Location
Advertisement

'लुटकेस' के निर्देशक ने कलाकारों के सामने खुद को बच्चा महसूस किया

khaskhabar.com : शनिवार, 08 अगस्त 2020 4:03 PM (IST)
'लुटकेस' के निर्देशक ने कलाकारों के सामने खुद को बच्चा महसूस किया
मुंबई। राजेश कृष्णन ने हाल ही में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुई फिल्म 'लुटकेस' से निर्देशन के क्षेत्र में कदम रखा। उनका कहना है कि कुणाल खेमू, विजय राज, गजराज राव और रसिका दुग्गल जैसे प्रतिभावान कलाकारों के साथ काम करने का अनुभव उनके लिए काफी शानदार रहा। कृष्णन ने आईएएनएस को बताया, "'लुटकेस' के कलाकारों के साथ काम करते वक्त मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं हार्वर्ड में पढ़ाई कर रहा एक किंडरगार्डेन स्टूडेंट हूं। ये सारे के सारे काफी प्रतिभाशाली हैं। मैं उनके सामने कुछ भी नहीं हूं। विजय राज या गजराज राव को मैं क्या सिखाऊं? उन्हें पहले से ही उनका काम पता है और इसी के चलते मेरे काम में मुझे आसानी हुई।"

उन्होंने आगे कहा, "कथानक को पढ़कर सुनाना सबसे महत्वपूर्ण कदम था। हमने अपने विचार साझा किए और उन्होंने मुझे ध्यानपूर्वक सुना और फिर उन्होंने समझा कि कहानी की मांग क्या है। बात चाहें कुणाल की हो या रसिका या फिर रणवीर, मैंने इन सभी से काफी कुछ सीखा हैं। इनके साथ काम करने का अनुभव काफी बेहतरीन रहा।"

'लुटकेस' एक कॉमेडी ड्रामा फिल्म है जो एक मिडिल क्लास शख्स (कुणाल खेमू) के इर्द-गिर्द घूमती है जिसकी जिंदगी उस वक्त पूरी तरह से बदल जाती है जब उसे 2,000 रुपये के नोटों से भरा एक लावारिस सूटकेस मिलता है। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement