2020 wrap: Year of the underdog-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jan 24, 2021 4:53 am
Location
Advertisement

2020 रैप : छुपे रूस्तमों का रहा यह साल

khaskhabar.com : बुधवार, 23 दिसम्बर 2020 3:34 PM (IST)
2020 रैप : छुपे रूस्तमों का रहा यह साल
नई दिल्ली। बॉलीवुड हमेशा से बड़े नामों और सरनेम से चलता आ रहा है, लेकिन इस साल चीजें कुछ अलग रही हैं। जैसा कि 2020 समाप्त होने वाला है, आप नोटिस करेंगे कि यह वर्ष उनलोगों के लिए शानदार रहा, जो एक बड़े पृष्ठभूमि से नहीं आते हैं। चकाचौंध से दूर, यह एक ऐसा साल रहा है, जब कई छुपे रूस्तमों ने शोबीज में अपना नाम कमाया। इसका का एक बड़ा कारण ओटीटी का आगमन है, एक ऐसा डोमेन जो सभी के लिए समान अवसर मुहैया कराता है।

आईएएनएस ने उन नामों को सूचीबद्ध किया है।

प्रतीक गांधी :

हंसल मेहता की जीवनी पर आधारित ड्रामा , 'स्कैम 1992: द हर्षद मेहता स्टोरी' में उन्होंने शानदार काम किया और शो ने उनके करियर ग्राफ को ऊंचा कर दिया है।

जब हर्षद मेहता की बायो-सीरीज रिलीज हुई तब गुजराती स्क्रीन और स्टेज पर प्रतीक अपनी पहचान बना रहे थे। उन्होंने आईएएनएस को बताया कि 2020 निश्चित रूप से उनके लिए एक गेमचेंजर रहा है।

उन्होंने कहा, "इस (श्रृंखला) ने मुझे बहुत सारी चीजें दीं और मैं इस तथ्य को पचाने की कोशिश कर रहा हूं कि शो के बाद जो हो रहा है वह वास्तविक है। इस पूरे साल 2020 ने मुझे व्यक्तिगत स्तर पर बहुत सारी चीजें सिखाई हैं।"

जितेन्द्र कुमार:


2020 उनके लिए गेमचेंजर साबित हुआ। उन्होंने फरवरी में रिलीज 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान' में आयुष्मान खुराना की ऑन-स्क्रीन समलैंगिक प्रेमी के रूप में प्रसिद्धि पाई। लेकिन जिस शो ने उन्हें घर-घर में लोकप्रिय बना दिया वह , 'पंचायत है। उन्हें डिजिटली रिलीज हुई फिल्म 'चमन बहार' में भी देखा गया था।

जितेंद्र ने आईएएनएस को बताया कि वह फिल्मी दुनिया में बदलाव का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने कहा, "इस साल ने मुझे बहुत कुछ दिया है। मैं इस तरह की विविध स्क्रिप्ट के साथ प्रयोग करने में सक्षम रहा हूं। मैंने दर्शकों को कंटेंट देने का आनंद लिया।

मानवी गगरू:

उन्हें 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान' में बेहतरीन रोल में देखा गया था, लेकिन 'फॉर मोर शॉट्स प्लीज!' ने उन्हें बड़े पैमाने पर प्रसिद्धी दिलाने में मदद दी और उनके अभिनय कौशल में निखार आया।

उन्होंने आईएएनए से कहा, "'शुभ मंगल ज्यादा सावधान' से मेरे किरदार के साथ वर्ष की शुरुआत पहले ही एक अच्छे नोट पर शुरू हो चुकी थी। इससे बहुत प्यार मिला है। लॉकडाउन की शुरुआत में 'सीजन टू फॉर मोर शॉट्स प्लीज' आया, जब लोग न्यू नार्मल की समझ विकसित करने की कोशिश कर रहे थे।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/5
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement