Sharadiya Navratri 2021: Today is the third day of Navratri, know the worship method of Maa Chandraghanta, Kushmanda Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jan 27, 2022 8:13 pm
Location
Advertisement

Sharadiya Navratri 2021: नवरात्रि का तीसरा दिन आज, जानिए मां चंद्रघंटा, कुष्मांडा की पूजा विधि

khaskhabar.com : शनिवार, 09 अक्टूबर 2021 12:59 PM (IST)
Sharadiya Navratri 2021: नवरात्रि का तीसरा दिन आज, जानिए मां चंद्रघंटा, कुष्मांडा की पूजा विधि
नवरात्र-पूजन के चौथे दिन कुष्माण्डा देवी के स्वरूप की उपासना की जाती है। इस दिन साधक का मन 'अनाहत' चक्र में अवस्थित होता है। अतः इस दिन उसे अत्यंत पवित्र और अचंचल मन से कूष्माण्डा देवी के स्वरूप को ध्यान में रखकर पूजा-उपासना के कार्य में लगना चाहिए।

जब सृष्टि का अस्तित्व नहीं था, तब इन्हीं देवी ने ब्रह्मांड की रचना की थी। अतः ये ही सृष्टि की आदि-स्वरूपा, आदिशक्ति हैं। इनका निवास सूर्यमंडल के भीतर के लोक में है। वहाँ निवास कर सकने की क्षमता और शक्ति केवल इन्हीं में है। इनके शरीर की कांति और प्रभा भी सूर्य के समान ही दैदीप्यमान हैं।

इनके तेज और प्रकाश से दसों दिशाएँ प्रकाशित हो रही हैं। ब्रह्मांड की सभी वस्तुओं और प्राणियों में अवस्थित तेज इन्हीं की छाया है। माँ की आठ भुजाएँ हैं। अतः ये अष्टभुजा देवी के नाम से भी विख्यात हैं। इनके सात हाथों में क्रमशः कमंडल, धनुष, बाण, कमल-पुष्प, अमृतपूर्ण कलश, चक्र तथा गदा है। आठवें हाथ में सभी सिद्धियों और निधियों को देने वाली जपमाला है। इनका वाहन सिंह है।



ये भी पढ़ें - वास्तु : इस रंग की कुर्सी पर बैठें, नहीं आएगी धन की कमी

2/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement