Mother Lakshmi is happy to use incense during worship-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 30, 2020 5:16 am
Location
Advertisement

पूजा के समय धूप का इस्तेमाल करने से होती है मां लक्ष्‍मी प्रसन्‍न

khaskhabar.com : शुक्रवार, 17 जुलाई 2020 4:39 PM (IST)
पूजा के समय धूप का इस्तेमाल करने से होती है मां लक्ष्‍मी प्रसन्‍न
विद्वान लोगों का मानना है कि पूजा के समय धूप जलाने से मन में शांति और प्रसन्नता आती है। क्या आप जानते हैं इसके अलावा भी इसके कई अन्य ज्योतिषीय टोटके हैं। माना जाता है कि इन टोटकों को अपनाने से न केवल लक्ष्‍मी मां प्रसन्‍न होती है बल्कि अच्‍छे दिन भी आने लगते हैं।

इन धूप का करें इस्‍तेमाल...


लोबान की धूप: लोबान को सुलगते हुए कंडे या अंगारे पर रख कर जलाया जाता है। लोबान का इस्तेमाल अक्सर मंदिर और दरगाह जैसी जगहों पर होता है। लोबान को जलाने के नियम होते हैं।

गुड़-घी की धूप : इसे अग्निहोत्र सुगंध भी कह सकते हैं। गुरुवार और रविवार को गुड़ और घी मिलाकर उसे कंडे पर जलाएं। चाहे तो इसमें पके चावल भी मिला सकते हैं। इससे जो सुगंधित वातावरण निर्मित होगा, वह आपके मन और ‍मस्तिष्क के तनाव को शांत कर देगा।

नकारात्मकता शक्तियों को भगाने के लिए : पीली सरसों, गुगल, लोबान, गौघृत को मिलाकर इसकी धूपबना लें और सूर्यास्त के बाद दिन अस्त के पहले उपले (कंडे) जलाकर यह सभी मिश्रित सामग्री उस पर डाल दें और उसका धुआं संपूर्ण घर में फैलाएं। ऐसा 21 दिन तक करें।

कपूर की धूप : कपूर बहुत पवित्र माना गया है। हिन्दूधर्म अनुसार कर्पूर जलाने से देवदोष व पितृदोष का शमन होता है। प्रतिदिन सुबह और शाम घर में संध्यावंदन के समय कपूर जरूर जलाएं।

गुग्गुल की धूप : गुग्गुल का उपयोग सुगंध, इत्र व औषधि में भी किया जाता है। इसकी महक मीठी होती है और आग में डालने पर वह जगह सुंगध से भर जाती है। इस बहुत से रोगों में भी लाभदायक माना जाता है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement