Keeping the water fountain in this direction keeps the grace of Maa Lakshmi-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 29, 2020 3:58 pm
Location
Advertisement

वॉटर फाउंटेन को इस दिशा में रखने से बनी रहती है मां लक्ष्मी की कृपा

khaskhabar.com : शनिवार, 12 सितम्बर 2020 6:38 PM (IST)
वॉटर फाउंटेन को इस दिशा में रखने से बनी रहती है मां लक्ष्मी की कृपा
घर में इनकम बढाने के लिए हर व्यरक्ति जीवन में दौलत-शोहरत और सुख-शांति चाहता है लेकिन सबको पूरा मुकाम मिल जाए यह जरूरी नहीं। ऐसे में पैसा कमाने और उसे लंबे समय धनी बने रहना बिना किसी प्रयासों के संभव नहीं है। ऐसे में चीनी ज्योतिष पद्धति फेंग शुई के अनुसार घर में पानी का सोता यानी वाटर फाउंटेन रखना बेहद शुभ होता है। कहते हैं किसी भी घर में अगर मुख्यम द्वार के पास बहते हुए पानी का सोता मिल जाए तो उस घर में धन की कभी कमी नहीं रहती।

वॉटर फाउंटेन को हमेशा घर के मेन गेट के सामने ही रखना चाहिए। अगर यह संभव नहीं हो तो इसे गेट के दाईं ओर रख सकते हैं।
वॉटर फाउंटेन को दक्षिण-पूर्वी दिशा में रखने से कभी भी घर में वित्त से जुडी समस्याएं सामने नहीं आती और मां लक्ष्मी की हमेशा उस जातक पर कृपा बनी रहती है।

वॉटर फाउंटेन में पानी की धार घर के अंदर की ओर हो ना कि बाहर की ओर। ऐसा करने के घर में सम्पपन्नता बनी रहती है और लक्ष्मी चिरकाल तक घर में ही निवास करती है।

करियर में बेहतरीन उठान और प्रगति के लिए फाउंटेन को उत्तर दिशा में रखा जाना चाहिए। इससे करियर संबंधी बाधाएं जल्दीत दूर होती हैं और नौकरी के अवसर बढने लगते हैं।

अच्छे स्वास्‍थ्‍य को भ्‍ाी वॉटर फाउंटेन से जोडकर देखा जाता है। अगर घर के पूर्वी हिस्से में वॉटर फाउंटेन को लगाया जाए तो परिवार के किसी भी सदस्य के बीमार होने की आंशका बेहद कम हो जाती है।

ध्यान रखें कि घर के मुख्‍य द्वार पर दो फाउंटेन भूलकर भी न लगाएं। इनसे घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है।
यह भी ध्यान रखें कि वॉटर फाउंटेन की आवाज आपके बेडरूम तक नहीं आए। चीनी ज्योतिष में इसे शुभ नहीं माना गया है।
कहते हैं या घर में वॉटर फाउंटेन रखो मत यदि रखते हो तो फिर उसमें निरंतर पानी का प्रवाह जारी रखो। पानी के प्रवाह के बिना सूखे सोते को रखना नुकसानदायक हो सकता है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement