It is better to blame luck than to find new ways to succeed.-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jun 18, 2019 1:19 pm
Location
Advertisement

किस्मत को दोष देने से अच्छा है सफलता के लिए नए रास्ते तलाशें

khaskhabar.com : रविवार, 14 अप्रैल 2019 6:15 PM (IST)
किस्मत को दोष देने से अच्छा है सफलता के लिए नए रास्ते तलाशें
नई दिल्ली। कुछ चुनौतियां बड़ी होती हैं, पर कुछ को हम खुद भी बड़ा बना लेते हैं। जहां जरूरत सीधे रास्तों पर चलने की होती है, हम टेढ़ी राह पकड़ लेते हैं। और फिर, कभी दूसरों को तो कभी किस्मत को दोष देने लगते हैं। ये देखना जरूरी है कि कहीं हम ही तो अपने काम और रिश्तों को जटिल नहीं बना रहे!

दूसरों को जगह ना देना
अपनी जिंदगी की कहानी के हीरो आप हैं। पर आपकी कहानी को आगे बढ़ने के लिए दूसरों का साथ भी चाहिए होता है। यह साथ तभी मिलता है, जब आप उन्हें अपनी कहानी में शामिल करते हैं। नए पात्रों को अपनाते हैं, उनकी कहानियां सुनते हैं। उनकी समस्याओं में उनके साथ खडे़ होते हैं। पर समस्या यह होती है कि हम दूसरों से अपेक्षाएं तो रखते हैं, पर उनकी एहमियत मानने को तैयार नहीं होते। उन्हें उनकी भूमिका का श्रेय नहीं देते। उनसे अपनी बातें नहीं कहते। बेकार की तुलनाएं करके अपनी चिंताएं बढ़ाते हैं।

जोखिम ना उठाना
समस्याओं से भागना और खुद को बदलने की कोशिश ना करना, समस्याएं बढ़ा देता है। बिजनेस कोच व वर्ड स्टाइलिस्ट जूडी स्यूई कहती हैं,‘हम जितनी चिंता करते हैं, उतनी योजनाएं नहीं बनाते। जितनी योजना बनाते हैं, उतना काम नहीं करते। चिंता करने और हल ढूंढने में फर्क होता है। खुद पर भरोसा रखें।’ हर समय दूसरों को खुश करने में रहना हमें जोखिम लेने से रोकता है। अपने मन की सुनें। गलतियां करने से डरे नहीं।’




ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/3
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement