Diseases are also caused due to Vastu defects, in this way problems can be overcome Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 11, 2022 1:19 pm
Location
Advertisement

वास्तुदोष के कारण भी होती हैं बीमारियाँ, इस तरह दूर हो सकती हैं परेशानियाँ

khaskhabar.com : शनिवार, 25 दिसम्बर 2021 10:58 AM (IST)
वास्तुदोष के कारण भी होती हैं बीमारियाँ, इस तरह दूर हो सकती हैं परेशानियाँ
गृहणी के अस्वस्थ रहने का कारण
गृहणी का मुख रसोई घर में भोजन बनाते समय दक्षिण दिशा की ओर है तो त्वचा एवं हड्डी के रोग हो सकते हैं। दक्षिण दिशा की ओर मुख करके भोजन पकाने से पैरों में दर्द की संभावना भी बनती है। इसी तरह पश्चिम की ओर मुख करके खाना बनाने से आँख, नाक, कान एवं गले की समस्याएँ हो सकती हैं। पूर्व दिशा की ओर चेहरा करके रसोई में भोजन बनाना स्वास्थ्य के लिए श्रेष्ठ माना गया है।
अनिद्रा
वास्तुशास्त्र में पूर्व तथा उत्तर दिशा का हल्का और नीचा होना तथा दक्षिण व पश्चिम दिशा का भारी व ऊंचा होना अच्छा माना गया है। यदि पूर्व दिशा में भारी निर्माण हो तथा पश्चिम दिशा एकदम खाली व निर्माण रहित हो तो अनिद्रा का शिकार होना पड़ सकता है। उत्तर दिशा में भारी निर्माण हो परन्तु दक्षिण और पश्चिम दिशा निर्माण रहित हो तो भी ऐसी स्थिति पैदा होती है।
सिरदर्द, बेचैनी और चक्कर आना
गृहस्वामी अग्निकोण या वायव्य कोण में शयन करें या उत्तर में सिर व दक्षिण में पैर करके सोए तब भी अनिद्रा या बेचैनी, सिरदर्द और चक्कर जैसी परेशानी हो सकती है, जिसके कारण दिन भर थकान की समस्या हो सकती है। धन आगमन और स्वास्थ्य की दृष्टि से दक्षिण या पूर्व की ओर पैर करना अच्छा माना गया है।

ये भी पढ़ें - इन बातों का रखें ध्यान, भरे रहेंगे धन के भंडार

2/3
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement