Chaitra Navratri 2020: worship of Maa Skandamata on fifth day, know the story and importance Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 27, 2020 12:42 am
Location
Advertisement

चैत्र नवरात्र 2020 : पांचवें दिन होती है मां स्कंदमाता की पूजा, जानिए कथा और महत्व

khaskhabar.com : रविवार, 29 मार्च 2020 09:55 AM (IST)
चैत्र नवरात्र 2020 : पांचवें दिन होती है मां स्कंदमाता की पूजा, जानिए कथा और महत्व
स्कंदमाता की कथा
भगवान स्कंद 'कुमार कार्तिकेय' नाम से भी जाने जाते हैं। ये प्रसिद्ध देवासुर संग्राम में देवताओं के सेनापति बने थे। पुराणों में इन्हें कुमार और शक्ति कहकर इनकी महिमा का वर्णन किया गया है। इन्हीं भगवान स्कंद की माता होने के कारण माँ दुर्गाजी के इस स्वरूप को स्कंदमाता के नाम से जाना जाता है। महत्व
नवरात्रि-पूजन के पाँचवें दिन का शास्त्रों में पुष्कल महत्व बताया गया है। इस चक्र में अवस्थित मन वाले साधक की समस्त बाह्य क्रियाओं एवं चित्तवृत्तियों का लोप हो जाता है। वह विशुद्ध चैतन्य स्वरूप की ओर अग्रसर हो रहा होता है।
साधक का मन समस्त लौकिक, सांसारिक, मायिक बंधनों से विमुक्त होकर पद्मासना माँ स्कंदमाता के स्वरूप में पूर्णतः तल्लीन होता है। इस समय साधक को पूर्ण सावधानी के साथ उपासना की ओर अग्रसर होना चाहिए। उसे अपनी समस्त ध्यान-वृत्तियों को एकाग्र रखते हुए साधना के पथ पर आगे बढ़ना चाहिए।

ये भी पढ़ें - मंदिर में ना करें ये गलतियां, वरना...

2/3
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement