ajabgajab quinta da regaleira and the initiation well in sintra -m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 21, 2018 2:29 pm
Location
Advertisement

इस कुएं का भेद अनोखा, जो भी आया वो...!

khaskhabar.com :
इस कुएं का भेद अनोखा, जो भी आया वो...!
नई दिल्ली। दुनिया में कई रहस्यमय जगह मौजूद है जिनके बारे मे आज भी रहस्य बना हुआ है। इनकी स्थापना का प्रमाणित उद्देश्य आज तक कोई समझ नहीं पाया है। बडे-बडे विद्धानों से लेकर आज के वैज्ञानिक भी इन भेदों को सुलझाने में बहुत कम साबित हो पाए है। लेकिन आज हम ऎसे कुएं के बारे में बताने जा रहे है जिसका रहस्य आज भी बरकरार है। उसका रहस्य आजतक कोई सुलझा नहीं पाया और लगता है कि आने वाले समय में शायद ही यह रहस्य सुलझ पाए। आखिर ऎसा क्या है इस कुएं में जहां लाखों लोग आज भी आकर मनोकामना मांगते है।

दरअसल, स कुएं को इंसान की हर इच्छा पूरी करने के लिए उकसाता है। पुर्तगाल के सिन्तारा के पास एक ऎसा ही विशिंग कुआं स्थित है जो ना सिर्फ लोगों की इच्छा पूरी करता है बल्कि उस कुएं के अंदर से आने वाली रोशनी भी अपने आप में एक रहस्य ही बनी हुई है। क्यूंटा डा रिगालेरिया जोकि यूनेस्को द्वारा संरक्षित वर्ल्ड हेरिटेज साइट के पास यह रहस्यमय कुंआ स्थित है।

आमतौर पर कुओं का प्रयोग पानी को संरक्षित करने के लिए किया जाता था लेकिन शायद यह दुनिया का ऎसा अनोखा कुआं है जिसकी स्थापना धार्मिक दीक्षा संस्कारों के उद्देश्य से की गई थी। जोकि अपने आप में एक रहस्यमय कथा है। इस कुएं की खासियत या कहें विचित्रता ही यही है कि इसके अंदर से रोशनी नजर आती है, जोकि सामान्यतौर पर मुमकिन नहीं हो सकती।

इस कुएं में रोशनी की कोई खास व्यवस्था नहीं है फिर भी इसके अंदर से रोशनी नजर आती है। यह कुआं एक विशिंग वेल भी है, लेकिन यहां आने वाले पर्यटक और स्थानीय लोग इसके अंदर से निकलने वाली रोशनी को लेकर ज्यादा रोमांचित रहते हैं।

अगर इसकी गहराई की बात की जाए तो इस कुएं की गहराई चार मंजिला इमारत के जितनी होगी। इस कुएं के बारे में बताया जा रहा है कि इस कुएं में जितना ज्यादा जमीन के अंदर जाया जाता है उतना ही ज्यादा कुआं संकरा होता जाता है। पहली नजर में आपको यह कुआं उलटे टॉवर जैसा नजर आएगा। शायद यहीं वजह है कि आज तक इस कुएं को लेकर रहस्य बना हुआ है।
[# अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/6
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement