Jai Shri Ram mask increased demand in Up-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 12, 2021 1:50 pm
Location
Advertisement

जय श्रीराम वाले मास्क की यूपी में बढ़ी मांग, आखिर क्यों, यहां पढ़ें

khaskhabar.com : शुक्रवार, 16 अप्रैल 2021 1:32 PM (IST)
जय श्रीराम वाले मास्क की यूपी में बढ़ी मांग, आखिर क्यों, यहां पढ़ें
लखनऊ । कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर ने देश के साथ ही उत्तर प्रदेश में भी कहर ढा दिया है। महाराष्ट्र के बाद देश में सर्वाधिक एक्टिव केस वाले राज्य में महामारी ने किसी को भी नहीं छोड़ा है। इससे बचाव के लिए लोग मास्क सहारा बन रहा है। बजार में मास्क की कमीं को देखते कई कम्पनियां मास्क बनाने में लगी है। लेकिन इन दिनों एक जय श्री राम छपे मास्क की मांग बजार में ज्यादा बढ़ी है। अमीनाबाद में थोक मास्क के विक्रेता रमेश चन्द्र गुप्ता का कहना है कि वैसे इस महामारी के दौर में लोग मास्क जान बचाने के लिए ले रहे हैं, लेकिन जयश्री राम लिखे मास्क की मांग कुछ ज्यादा बढ़ गयी है। एक खेप उसकी खत्म भी हो चुकी है। आर्डर पर भेजा है। इसके अलावा पंचायत चुनाव में भी लोग काफी मास्क यही से ले जा रहे है। उसमें अपने प्रत्याषी फोटो प्रिंटेंड कराते हैं। कुछ लोग तो पार्टी विषेष के लिए भी जय श्री राम लिखा मास्क खरीद रहे है।

उन्होंने बताया कि प्रतापगढ़ रायबरेली से भी जय श्रीराम वाले मास्क की डिमांड आयी है। मास्क विक्रेता का कहना है कि डिमांड इतनी ज्यादा आ रही है कि उसे पूरा करने के लिए कारीगरों को दिन-रात काम करना पड़ रहा है।

एक अन्य दुकानदार जफर का कहना है वैसे तो सभी प्रकार के मास्कों की बाजर में मांग बढ़ी है। पर जय श्रीराम प्रिटेंड मास्क इन दिनों ज्यादा मांगे जा रहे हैं।

वाराणसी कोरोना माल के संचालक अशोक सिंह का कहना है कोरोना से बचने के लिए मास्क बड़ा सशक्त माध्यम है। इस कारण जैसे केस बढ़ रहे हैं। वैसे बाजार में मास्क की मांग बढ़ी है, लेकिन भगवान से प्रिटेंड मास्क की मांग हमेशा से रही है। इस समय जय श्री राम लिखा मास्क खूब मांगा जा रहा है।

मास्क लेने वाले राकेश ने बताया कि वह जय श्री राम वाला मास्क इसीलिए खरीद रहे हैं कि इस मास्क को पहनने से भगवान जल्द वायरस का नाश कर देंगें। ज्ञात हो कि प्रदेश में गुरुवार को 22439 नए केस मिलने के बाद से प्रदेश में सक्रिय केस की कुल संख्या बहुत अधिक हो गयी है। इसके साथ ही चौबीस घंटे की इस अवधि में सर्वाधिक 104 लोगों की मौत हुई। गुरुवार को संक्रमण ने सारे रिकार्ड तोड़ दिए। एक अप्रैल को प्रदेश में नए मरीजों की संख्या 2600 थी जो कि 15 अप्रैल को 22439 पहुंच गई, जो कि आठ गुना से अधिक है। सक्रिय मरीजों की संख्या भी सवा लाख को पार कर 129848 पर पहुंच गई।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement