Ancient coins found in UP Baghpat-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 21, 2022 3:29 pm
Location
Advertisement

यूपी के बागपत में मिले प्राचीन सिक्के

khaskhabar.com : मंगलवार, 30 नवम्बर 2021 2:55 PM (IST)
यूपी के बागपत में मिले प्राचीन सिक्के
मेरठ । बागपत के एक व्यवसायी अमित राय जैन को चांदी और तांबे से बने 16 सिक्के मिले हैं, जिन पर एक बैल और एक घुड़सवार की आकृति बनी हुई है। उन्हें रविवार को दिल्ली-सहारनपुर राजमार्ग के करीब खेखरा में एक टीले पर सिक्के मिले, जिसे स्थानीय रूप से 'कथा टीला' के रूप में जाना जाता है।

जैन ने संवाददाताओं से कहा कि कुछ सिक्के 12वीं शताब्दी के उत्तरार्ध के हैं, जो राजपूत राजा पृथ्वीराज चौहान के समय का है।

उन्होंने कहा कि मैं उस क्षेत्र का बार-बार दौरा करता रहता हूं, जो पुरातात्विक खोजों में समृद्ध है। जो सिक्के मुझे मिले, वे राजपूत शासकों की एक श्रृंखला के हैं, जो राजस्थान, हरियाणा, और आठवीं शताब्दी से बारहवीं शताब्दी ईस्वी तक पश्चिमी गंगा के मैदानी इलाके में चलते थे।

जैन, संस्कृति और इतिहास संघ के सदस्य हैं, जो पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इतिहासकारों का एक संगठन है।

के.के. शर्मा, इतिहास विभाग के प्रमुख, मुल्तानिमल मोदी कॉलेज, मोदीनगर ने सिक्कों की पुरातनता की पुष्टि की।

उन्होंने कहा कि यह एक दिलचस्प खोज है क्योंकि यह क्षेत्र राजपूत राजाओं के पास कुछ शताब्दियों तक रहा है। सिक्कों पर घोड़े और बैल के शिलालेख उन दिनों काफी आम थे। युद्ध के दौरान सैनिकों का प्राथमिक वाहन घोड़ा हुआ करता था और सिक्कों पर उनका चित्रण होता था। वास्तव में, सातवीं और 17वीं शताब्दी के बीच दो दर्जन के करीब शासकों ने अपने सिक्कों पर किसी न किसी रूप में घोड़ों का इस्तेमाल किया था।

बागपत दिलचस्प ऐतिहासिक कलाकृतियों की खोज के लिए प्रसिद्ध है, जून 2018 में सिनौली में आयोजित भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के दौरान सबसे सनसनीखेज तीन रथों का पता चला है, जिसने भारत में कांस्य युग के रथों के पहले भौतिक साक्ष्य को चिह्न्ति किया।

2006 में, सिनौली ने हड़प्पा-युग के दफन मैदानों का खुलासा किया था जहाँ कई खोज की गई थीं जैसे कि चित्रित ग्रे वेयर पॉटरी, कंकाल, कांस्य तलवार और तांबे के बर्तन।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement