ajabgajab amazing! these two children reads with closed eyes and with smelling recognize colour -m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 3, 2022 9:13 pm
Location
Advertisement

ये बच्चे बंद आंखों से पढते हैं,सूंघकर बताते हैं रंग

khaskhabar.com :
ये बच्चे बंद आंखों से पढते हैं,सूंघकर बताते हैं रंग
नई दिल्ली। हमारे देश के बच्चों में टैलेंट की कोई कमी नहीं है। सुहानी और सुशेन एक ऎसी कला में माहिर है जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। ये दोनों बच्चे हिमाचल प्रदेश के ऊना के रहने वाले है। जिस उम्र में बच्चों को खुली आंखों से किसी चीज को पढने और पहचानने में दिक्कत होती है उस काम को यह दोनों बच्चे आंखों पर पट्टी बांध कर करते हैं।

विलक्षण प्रतिभा के धनी यह दोनों बच्चे आंखें बंद करके और केवल सूंघकर ही रंग की पहचान करने के अलावा कुछ भी पढ़ने में पूरी तरह से सक्षम हैं। इस अदभुत कला के चलते लोग भी इन बच्चों की झलक पाने के इच्छुक रहते हैं। यूं तो कुछ बच्चे ऎसे भी मिल जाएंगे, जो खुली आंखों से अखबार में लिखे शब्द नहीं पढ सकते लेकिन इन्हीं बच्चों में से कुछ बच्चे ऎसे भी हैं जो बंद आंखों से भी अखबार तो क्या कुछ भी लिखा हुआ पढ़ सकते हैं। यहां तक की लिखावट के रंग भी बता सकते हैं। ऊना के गुरूसर मोहल्ला के ललित कपूर की 9 साल की बेटी सुहानी और झले़डा के राजेन्द्र कुमार का 10 साल का बेटा सुशेन भी कुछ ऎसी ही विलक्षण प्रतिभा के धनी हैं। ये दोनों बंद आंखों से न केवल रंगों को पहचान लेते हैं बल्कि किताब या अखबार सहित कहीं भी लिखे हुए अक्षरों को भी आसानी से पढ़ लेते हैं।

ड्राइंग में बेहतरीन रंग उकेरने वाली तीसरी कक्षा की छात्रा सुहानी और पांचवीं कक्षा के छात्र सुशेन की इस प्रतिभा ने लोगों में भी कौतूहल जगा दिया है। यह दोनों बिना देखे केवल चीजों को छूकर ही उनके रंग बता देते हैं। दोनों की माने तो यह सब उनके ट्रेनर राजेन्द्र कुमार की देन है। तीन महीने के मिड ब्रेन एक्टिवेशन कोर्स के बाद ही यह दोनों बंद आंखों से यह सब कर पाने में सक्षम हो गए हैं।
[# अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement