महिला हॉकी विश्व कप : अमेरिका को ड्रॉ पर रोककर भारत प्लेऑफ में

लंदन। कप्तान रानी रामपाल द्वारा दूसरे हाफ में किए गए अहम गोल की बदौलत भारतीय महिला हॉकी टीम ने रविवार को अपने आखिरी ग्रुप मैच में अमेरिका को 1-1 से ड्रॉ पर रोककर विश्व कप के प्लेऑफ में प्रवेश कर लिया। भारत के तीन मैचों में दो अंक रहे और वह विश्व कप के क्वार्टर फाइनल दौर से बाहर हो गई। लेकिन अमेरिका से ड्रॉ खेलकर वह अब प्लेआफ के लिए खेलेगी। पूल-बी से आयरलैंड छह अंकों के साथ क्वार्टर फाइनल में पहुंची। वहीं इंग्लैंड के भी दो मैचों में दो अंक रहे और अब वह भी प्लेआफ खेलेगी। पूल-बी के इस मैच में अमेरिका के लिए पाओलिनो माग्वाक्स ने 11वें और भारत के लिए कप्तान रानी रामपाल ने 31वें मिनट में किया। करो या मरो के इस मैच में भारत को पहले क्वार्टर में सातवें, 14वें और 15वें मिनट में तीन पेनाल्टी कॉनर्र मिले जिसका टीम फायदा नहीं उठा सकी। वहीं अमेरिका ने 11वें मिनट में मैदानी गोल कर 1-0 की बढ़त हासिल कर ली। अमेरिका के लिए यह गोल पाओलिनो माग्वाक्स ने किया। दूसरे क्वार्टर में अमेरिका को 18वें, 28वें और 30वें मिनट में तीन पेनाल्टी कॉनर्र मिले। लेकिन उसके खिलाड़ी इसे गोल में भुनाने में नाकाम रहे। हालांकि भारतीय टीम भी 19वें मिनट में मिले पेनाल्टी कार्नर का फायदा नहीं उठा सकी और पहला हाफ 1-0 से अमेरिका के नाम रहा। दूसरे हाफ में भारत ने बेहतरीन वापसी की। 31वें मिनट में मिले पांचवे पेनल्टी कॉर्नर को कप्तान रानी रामपाल ने गोल में बदलकर भारत को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। भारत ने इस तरह तीसरे क्वार्टर का समापन 1-1 की बराबरी के साथ किया। चौथा और निर्णायक दोनों ही टीमों के लिए काफी अहम हो गया। 47वें मिनट में भारत को छठा पेनाल्टी कॉर्नर मिला जो बेकार चला गया। हालांकि भारतीय खिलाडिय़ों ने अपना आक्रमण जारी रखा। मुकाबले में इसके बाद और कोई गोल नहीं हो सका और भारत ने अमेरिका को 1-1 से ड्रॉ पर रोककर प्लेआफ में अपना स्थान पक्का कर लिया। --आईएएनएस
Share this article

यह भी पढ़े

टेस्ट सीरीज से बाहर हुए कमिंस व हैजलवुड, ये ले सकते हैं जगह

शनाका ने गेंदबाजी नहीं बल्लेबाजी में किया कमाल, श्रीलंका जीता