‘हम अधिकतर ध्यान अपनी फिटनेस और फिनिशिंग पर दे रहे हैं’

नई दिल्ली। पिछले महीने खत्म हुई चैंपियंस ट्रॉफी में उप-विजेता रहने वाली भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह का कहना है कि उनकी टीम का लक्ष्य इसी महीने से इंडोनेशिया के जकार्ता में शुरू हो रहे एशियाई खेलों में अपने खिताब की रक्षा करते हुए स्वर्ण पदक जीतना है। मनप्रीत ने कहा कि उनकी टीम का आत्मविश्वास ऊंचा है और अब वह अपने खिताब को बचाने के लिए पूरी से तैयार है। अगर भारतीय टीम इस बार भी स्वर्ण जीतने में सफल रहती है तो वह टोक्यो ओलम्पिक-2020 का टिकट हासिल कर लेगी। मनप्रीत ने आईएएनएस से कहा, हमारा सिर्फ एक लक्ष्य है। हम सिर्फ स्वर्ण पदक चाहते हैं। इससे कम कुछ नहीं। हमें टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई करना है। हरेंद्र सिंह के कोच बनने के बाद चैम्पियंस ट्रॉफी भारत का पहला टूर्नामेंट था। हरेंद्र को शुअर्ड मरेन के स्थान पर टीम का कोच नियुक्त किया गया था जो अब महिला हॉकी टीम के कोच हैं। मनप्रीत ने माना कि मरेन की सोच का टीम पर काफी प्रभाव है लेकिन मनप्रीत ने कहा कि हरेंद्र की रणनीति भारतीय खिलाडिय़ों को अपना खेल खेलने देने की है जो आगे जाकर काफी फायदेमंद होगी।
Share this article

यह भी पढ़े

शनाका ने गेंदबाजी नहीं बल्लेबाजी में किया कमाल, श्रीलंका जीता

टेस्ट सीरीज से बाहर हुए कमिंस व हैजलवुड, ये ले सकते हैं जगह