‘मैं अगर कप्तान नहीं हूं तो भी मैदान पर अपना काम करता रहता हूं’

एशियाई खेलों के बाद भारत को 28 नवंबर से भुवनेश्वर में शुरू होने वाले हाकी विश्व कप में भी विश्व की शीर्ष टीमों के खिलाफ खेलना है। यह पूछे जाने पर कि क्या एशियाई टीमों के खिलाफ खेलकर भारतीय टीम विश्व की शीर्ष टीमों का मुकाबला करने के लिए तैयार हो सकती है? श्रीजेश ने कहा, विश्व कप में हर टीम चुनौतीपूर्ण होती है और आपको हर मैच में शीर्ष टीमों का मुकाबला नहीं करना होता। आपको हर टीम का सामना करने के लिए तैयार रहना होता है, एशिया की टीमों के खिलाफ आपको अलग तरीके से खेलना होता है, क्योंकि उनका स्टाइल अलग है। विश्व कप में पाकिस्तान और मलेशिया जैसी एशियाई टीमें भी हिस्सा लेंगी और इन खेलों से मिले अनुभव को हम विश्व कप में उनके खिलाफ इस्तेमाल कर सकते हैं। एशियाई खेलों का 18वां संस्करण 18 अगस्त से 2 सितंबर के बीच इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबंग में आयोजित किया जाएगा।
Share this article

यह भी पढ़े

टेस्ट सीरीज से बाहर हुए कमिंस व हैजलवुड, ये ले सकते हैं जगह

शनाका ने गेंदबाजी नहीं बल्लेबाजी में किया कमाल, श्रीलंका जीता