‘मैं अगर कप्तान नहीं हूं तो भी मैदान पर अपना काम करता रहता हूं’

एशियाई खेलों के बाद भारत को 28 नवंबर से भुवनेश्वर में शुरू होने वाले हाकी विश्व कप में भी विश्व की शीर्ष टीमों के खिलाफ खेलना है। यह पूछे जाने पर कि क्या एशियाई टीमों के खिलाफ खेलकर भारतीय टीम विश्व की शीर्ष टीमों का मुकाबला करने के लिए तैयार हो सकती है? श्रीजेश ने कहा, विश्व कप में हर टीम चुनौतीपूर्ण होती है और आपको हर मैच में शीर्ष टीमों का मुकाबला नहीं करना होता। आपको हर टीम का सामना करने के लिए तैयार रहना होता है, एशिया की टीमों के खिलाफ आपको अलग तरीके से खेलना होता है, क्योंकि उनका स्टाइल अलग है। विश्व कप में पाकिस्तान और मलेशिया जैसी एशियाई टीमें भी हिस्सा लेंगी और इन खेलों से मिले अनुभव को हम विश्व कप में उनके खिलाफ इस्तेमाल कर सकते हैं। एशियाई खेलों का 18वां संस्करण 18 अगस्त से 2 सितंबर के बीच इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबंग में आयोजित किया जाएगा।
Share this article

यह भी पढ़े

सोना जीत सायना बोलीं- मैं आधे घंटे भी नहीं सो पाई, क्योंकि पापा...

‘लेकिन ईमानदारी से कहूं तो मैंने इसके बारे में सोचा नहीं है’

मिताली ने कहा, 1999 में मुझे जब भारत के लिए खेलने का मौका मिला...

इस एलीट क्लब में शामिल हुए रोहित शर्मा, बने T20 के 9वें क्रिकेटर

केन विलियमसन का जीत के साथ आगाज, बने छठे कप्तान, देखें...

‘इसके बाद मेरी तबीयत बिगड़ गई, मेरे पेट में कुछ होने लगा’