भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कोच हरेंद्र सिंह ने बताया यह लक्ष्य

नई दिल्ली। इंडोनेशिया में आयोजित होने वाले 18वें एशियाई खेलों से पहले भारतीय पुरुष टीम के 18 खिलाडिय़ों के साथ-साथ अतिरिक्त खिलाड़ी भी एक अगस्त से शुरू होने वाले राष्ट्रीय शिविर का हिस्सा बनेंगे। इस राष्ट्रीय शिविर की शुरुआत बेंगलुरू के भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) केंद्र में हो रही है। बांग्लादेश, दक्षिण कोरिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ 21 दिनों तक अभ्यास मैच खेलने के बाद भारतीय टीम के खिलाडिय़ों को कुछ समय का आराम दिया गया, ताकि वे 11 अगस्त तक चलने वाले इस राष्ट्रीय शिविर का हिस्सा बन सकें। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के मुख्य कोच हरेंद्र सिंह ने कहा कि एक सप्ताह के आराम के बाद हम अब कड़ी मेहनत शुरू करेंगे। व्यस्त कार्यक्रम के बाद यह आराम बेहद जरूरी था। खिलाड़ी अब तरो-ताजा होकर राष्ट्रीय शिविर में शामिल होंगे। कोच हरेंद्र ने कहा कि भारतीय टीम का लक्ष्य एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक हासिल कर 2020 टोक्यो ओलम्पिक खेलों के लिए क्वालिफिकेशन हासिल करना होगा। ऐसे में राष्ट्रीय शिविर में टीम खेल के सभी प्रारूपों पर ध्यानपूर्वक काम करेगी। एशियाई खेलों की सफलता ही ओडिशा विश्व कप टूर्नामेंट की तैयारी के लिए सही कदम के रूप में नजर आएगी।
Share this article

यह भी पढ़े

टेस्ट सीरीज से बाहर हुए कमिंस व हैजलवुड, ये ले सकते हैं जगह

शनाका ने गेंदबाजी नहीं बल्लेबाजी में किया कमाल, श्रीलंका जीता