‘सभी स्वीकृत कार्य सितंबर के अंत तक शुरू किए जाएं’

उदयपुर/जयपुर। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने शनिवार को उदयपुर जिले में संभागीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा बैठक की। बैठक में राठौड़ ने प्रगतिरत कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने एवं स्वीकृत कार्यों को शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने उदयपुर संभाग में प्रधानमंत्री आवास योजना के 92323 अपूर्ण कार्य तथा व्यक्तिगत लाभ के लगभग 2 लाख 78 हजार कार्य जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। राठौड़ ने संभाग में 448 करोड़ के स्वीकृत कार्य अभी तक प्रारम्भ नहीं होने पर नाराजगी जताई। उन्होने विभाग के अधिकारियों को यह सभी कार्य सितम्बर माह के अंत तक प्रारम्भ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्वीकृत कार्यों को प्रारम्भ होने में देरी होने का कोई भी कारण नहीं होना चाहिए। बैठक में राठौड़ ने कहा कि राज्य सरकार के साढ़े चार साल से अधिक के कार्यकाल में अब तक 75 हजार 793 करोड़ रुपए की राशि पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा खर्च की गई है। यह राशि राजस्थान की स्थापना से लेकर अब तक की किसी भी पंचवर्षीय योजना से अधिक है। संभाग में ग्रामीण विकास पर 1 हजार 544 करोड़ की राशि खर्च कर 66 हजार 875 कार्य करवाए गए, जो पिछली बार की तुलना में तीन गुना है। राठौड़ बताया कि राज्य सरकार ने दीनदयाल उपाध्याय पट्टा वितरण शिविरों का आयोजन कर उदयपुर संभाग भर में 1 लाख 21 हजार से अधिक आवासीय पट्टे जारी कर आमजन को उनके संवैधानिक अधिकार प्रदान किए। बैठक में पंचायतीराज विभाग के प्रमुख शासन सचिव राजेश्वर सिंह, पंचायतीराज सचिव कुंजीलाल मीणा, उदयपुर संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा, उदयपुर जिला परिषद सीईओ कमर चौधरी, अन्य जिलों के जिला परिषद सीईओ, एसीईओ, विकास अधिकारी एवं विभाग से जुड़े अन्य अधिकारी इस बैठक में मौजूद रहे।
Share this article

यह भी पढ़े

यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल

खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम