कांग्रेस ने आरोप लगाया, राफेल में खास बदलावों पर सरकार ने झूठ बोला

चंडीगढ़। कांग्रेस ने शनिवार को आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने 41,000 करोड़ रुपये के राफेल करार मामले में भारत द्वारा किए गए विशिष्ट बदलावों (इंडिया-स्पेसिफिक इनहांसमेंट) को लेकर झूठ बोला है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण से इस पर जवाब मांगा। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक बयान में कहा कि अभी भी प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री प्रति विमान मूल्य 526 करोड़ से 1,670 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी मामले में झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार खुद के बुने झूठ के जाल में फंस गई है। पार्टी ने कहा कि 36 राफेल विमान खरीदने पर सार्वजनिक खजाने को 41,000 करोड़ रुपए का घाटा होगा, जो उसी विन्यास (कंफीगेरेशन) के साथ खरीदा गया है, जिसके बारे में करार संप्रग के कार्यकाल में हुआ था। उस समय विमान की कीमत 526 करोड़ प्रति विमान थी, जो अब मोदी सरकार के कार्यकाल में बढक़र 1,670 करोड़ रुपए हो गई। सुरजेवाला ने कहा कि मोदी, निर्मला और अरुण जेटली ने ‘सफेद झूठ’ बोला, जब उन्होंने मोदी सरकार के पाप को छुपाने के लिए कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में खरीदा जा रहा विमान भारत द्वारा विशिष्ट बदलाव के स्तर पर अलग है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक रूप से मौजूद सूचना बताते हैं कि भारतीय वायुसेना द्वारा मुहैया कराए गए एयर स्टाफ क्वालिटेटिव रिक्वायरमेंट (एएसक्यूआर) के अनुसार, संप्रग सरकार के कार्यकाल में 126 विमान एमएमआरसीए करार के दौरान भारत द्वारा 13 भारतीय विशिष्ट बदलाव की मांग की गई थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में लड़ाकू विमान खरीद की निविदा में स्पष्ट रूप से ‘पूर्ण हथियार’ और ‘प्रौद्योगिकी के स्थानांतरण’ को लेकर स्पष्टता थी, जो भाजपा सरकार के करार में मौजूद नहीं है।
Share this article

यह भी पढ़े

इस लडकी का हर कोई हुआ दीवाना, जानें...

आपके हाथ में पैसा नहीं रूकता, तो इसे जरूर पढ़े