झांसी में विद्यार्थियों को कभी हार नहीं मानने के गुर सिखाए गए

झांसी। छोटी सी असफलता छात्र-छात्राओं में निराशा का भाव भर देती है, जिसके चलते वह वक्त गुजरने के साथ साहस भरे फैसले नहीं ले पाते। युवा एक असफलता से हारें नहीं बल्कि सीखें, इस भाव को लेकर बुंदेलखंड के झांसी में छात्र-छात्राओं के बीच ‘कभी हारना नहीं’ कार्यक्रम की शुरुआत की गई।गैर सरकारी संगठन मनस्विनी द्वारा युवाओं के सशक्तिकरण को लेकर खुशीपुरा स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय में ‘कभी हारना नहीं’ विषय पर केंद्रित कार्यक्रम शनिवार को आयोजित किया गया। इस आयोजन में पहुंचे प्रेरकों ने छात्र-छात्राओं को बताया कि जीवन में सफलता-असफलता का दौर चलता रहता है, इसलिए किसी भी असफलता से निराश नहीं होना चाहिए बल्कि यह मानना चाहिए कि हमारे प्रयास में कोई कमी रह गई होगी। अगली बार जो कमी है उसे दूर करेंगे।जेसीआई (जूनियर चेम्बर इंटरनेशनल) की जोन ट्रेनर रजनी गुप्ता ने छात्र-छात्राओं को विभिन्न कहानियों और कार्यक्रमों के जरिए बताया कि अगर हम शुरुआत से ही अपनी गलतियों को स्वीकारने लगेंगे तो आने वाले समय में बेहतर इंसान बनकर उभरेंगे।इस मौके पर छात्र-छात्राओं को स्वास्थ्य और साफ-सफाई के संदर्भ में भी संदेश दिए गए। विद्यालय प्रधानाचार्य अनीता रिछारिया ने बच्चों में जन-जागृति के अभियान को आवश्यक बताते हुए कहा कि बच्चों में आत्मविश्वास का होना जरूरी है। --आईएएनएस
Share this article

यह भी पढ़े

यहां कब्र से आती है आवाज, ‘जिंदा हूं बाहर निकालो’

इस पेड से निकल रहा है खून, जानिए पूरी कहानी

क्या आपकी लव लाइफ से खुशी काफूर हो चुकी है...!