हिसार में राज्य के पहले हवाई अड्‌डे का शुभारंभ

चण्डीगढ़, । हरियाणा के इतिहास में 72वां स्वतंत्रता दिवस स्वर्णिम अक्षरों में लिखा गया जब मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हिसार में राज्य के पहले हवाई अड्ïडे का शुभारंभ किया और कहा कि दूसरे व तीसरे चरण में यहां पर कारगो ट्रिमिनल, एमआरओ, फलाईंग कल्ब यहां तक की ऐयरो डिफैंस यूनिवर्सिटी भी खोली जाएगी। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि दिल्ली व हिसार को हाई स्पीड रेल कैनक्टिविटी तथा नियंत्रित एक्सप्रेसवे से जोडऩे की योजनाओं पर भी प्रक्रिया जारी है। दूसरे चरण के लिए आज हरियाणा के नागरिक उड्डयन विभाग और स्पाईज जैट के बीच समझौते पर हस्ताक्षर भी किए गए। मुख्यमंत्री की उपस्थिति में हरियाणा की ओर से प्रधान सचिव देवेंद्र सिंह और स्पाईज जैट की तरफ से मुख्य प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर वित्त एवं राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, विधायक एवं भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला, हरियाणा भंडागार निगम के चेयरमैन कैप्टन भूपेंद्र सिंह, हरियाणा सार्वनिक उपक्रम ब्यूरो के चेयरमैन डॉ. कमल गुप्ता भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नागरिक उड्ïडयन के क्षेत्र में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध हों। इसके लिए पिंजोर, करनाल, बाछोद व भिवानी की हवाई पटि्टयों के रनवे की लंबाई भी पांच हजार फुट तक की जाएगी। हिसार में रनवे की लंबाई नौ हजार फुट तक की जाएगी जो एक स्टैंडर्ड अंतर्राष्ट्रीय अड्डे के लिए आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस हवाई अड्ïडे का राजनीतिक फायदा या चुनाव से जोडकऱ नहीं देखा जाना चाहिए। हमने तो वायदा ही नहीं किया था। जब स्वर्ण जयंती समापन समारोह में इसकी घोषणा की गई थी तो उसके बाद योजना को आगे बढाया और आज रिकॉर्ड समय में पहले चरण का कार्य पूरा हो गया है। मैसर्ज पिनाकले एयरवेज लिमिटिड द्वारा सप्ताह में छ: उड़ान सेवाएं दिल्ली व चंडीगढ के लिए शुरू की जाएंगी। यात्रियों से लगभग 1500 रुपये किराया वसूला जाएगा, जबकि 2800 से 3000 रुपये वाईव्ल गैप फंडिग(वीजीएफ) हरियाणा की ओर से दिया जाएगा। सरकार की ओर से यह राशि प्रधानमंत्री की हवाई चप्पल वाला भी यात्रा करे हवाई जहाज में उड़ान योजना के तहत दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश में क्षेत्रीय हवाई कनैक्टिवीटि बढाने के लिए घरेलू हवाई नेटवर्क योजना उड़ान के तहत हिसार में तीन चरणों में समेकित हवाई अड्ïडा विकसित किया जा रहा है। जिसका पहले चरण का आज मुख्यमंत्री ने उद्ïघाटन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिसार का हवाई अड्ïडे के लिए पूर्व में कई राजनीतिक पार्टियों ने वायदे किए थे, परंतु किसी ने इसको गंभीरता से नहीं लिया। जब वर्तमान सरकार ने इस योजना को सीरे चढाना शुरू किया तो कुछ नेता राजनीति से इस्तीफा देने तक की बात कहने लगे थे। वे इस्तीफा देने की बजाए हिसार आकर हवाई अड्ïडा को देखें।
Share this article