अफगानिस्तान के किसानों ने किया मधुमक्खी पालन केन्द्र का भ्रमण

कुरूक्षेत्र। अफगानिस्तान के प्रगतिशील किसानों ने जिला कुरूक्षेत्र के एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केन्द्र, रामनगर का भ्रमण किया है। यह एशिया महाद्वीप का ऐसा पहला मधुमक्खी पालन केन्द्र है, जिसे इंडो-इजराईल वर्क प्लान फेज 2 के अन्तर्गत स्थापित किया गया है। इस संबंध में जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस केन्द्र की स्थापना का मुख्य उद्देश्य आधुनिक तकनीक व संयंत्रों के उपयोग से मधुमक्खी व्यवसाय को अपनाकर वाणिज्यिक स्तर पर शहद के उत्पादन को बढ़ाना है। इसके अतिरिक्त, स्वस्थ व बीमारी रहित मधुमक्खी कालोनियों के रखरखाव के लिए प्रबन्धन प्रदर्शन लगाना, शहद निकालने, भण्डारण, प्रसंस्करण, टैस्टिंग, पैकेजिंग करना तथा राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इसके विपणन को बढ़ावा देना है। अफगानिस्तान के इन किसानों ने इस केन्द्र से मधुमक्खी पालन की जानकारी हासिल की। उन्होंने इस एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केन्द्र द्वारा मधुमक्खी पालन के लिए दी जा रही सुविधाओं की सराहना की। इस केन्द्र का भ्रमण करने के लिए उन्होंने स्वयं को भाग्यशाली माना और कहा कि हम अपने देश में जाकर वैज्ञानिक तरीके से मधुमक्खी पालन का कार्य शुरू करेंगे।
Share this article