ड्रामा, कॉमेडी और ट्रेजडी से भरपूर है ‘यमला पगला दीवाना फिर से’

कहानी :-फिल्म की कहानी पंजाब से शुरू होती है जहां वैद्य पूरन सिंह (सनी देओल) अपने भाई काला (बॉबी देओल) और दो बच्चों के साथ रहता है। वैद्य पूरन बहुत कम बोलते हैं, लेकिन कोई उनकी चुप्पी को तुड़वाने का प्रयास करता है तो वह उसको छोड़ते नहीं हैं। फिल्म में धमेंद्र ने जयंत नाम परमार नाम के शख्स का किरदार निभाया है, जो पूरन सिंह का एक किराएदार है। जयवंत परमार पेशे से वकील भी है। पूरन सिंह के पास वज्र कवच नामक आयुर्वेदिक दवा बनाने का फार्मूला है, जिसका काम कई पीढिय़ों से चलता आ रहा है। उस फार्मूले के पीछे मशहूर बिजनेसमैन माफतिया लग जाता है। कहानी में चीकू (कृति खरबंदा) की एंट्री होती है जो कि एक डेंटिस्ट है और सिलसिलेवार घटनाओं में उसकी मुलाकात पूरन सिंह और काला से होती है। कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब बिजनेसमैन माफिया अपनी तरफ से पूरण सिंह के ऊपर दवा का फॉर्मूला चोरी करने का केस करता है और कहानी पंजाब से गुजरात पहुंच जाती है। अंतत: क्या होता है यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।
Share this article