जानें, बर्तन कैसे बनाते और बिगाड़ते हैं आपके काम

वास्‍तु और धार्मिक ग्रंथ बहुत कम चीजों पर एकमत होते हैं लेकिन बर्तनों के बारे में दोनों ने कहा है कि अगर साफ बर्तनों का इस्‍तेमाल आपकी किस्‍मत चमका सकता है। वास्तु के अनुसार घर में कदापि टूटे-फूटे बर्तन नहीं रखने चाहिए। यदि किसी पात्र में कोई खरोंच आदि जैसा निशान भी आ जाए तो भी उसे भोजन करने के लिए इस्तेमाल में नही लाना चाहिए। घर में सुंदर डिजाइन वाले बर्तनों का चलन बड़ी तेजी से बढ़ रहा है। लेकिन कई घरों में पुराने या टूटे-फूटे बर्तनों को संभालकर स्टोर रूम में रख दिया जाता है, जो कि वास्तु की दृष्टि से अशुभ है तथा इसे वास्तु विज्ञान में एक दोष की भांति देखा जाता है।टूटे-फूटे बर्तन दरिद्रता की ओर संकेत करते हैं तथा इन्हें घर में जगह देने से घर में दरिद्रता बढ़ती है और कई तरह की आर्थिक हानि भी हो सकती है। वास्‍तु के अनुसार चांदी के बर्तनों में भोजन करना तन, मन और धन के लिए अनुकूल माना गया है क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है जिससे शरीर की गर्मी का नाश होता है। सोने के बर्तनों में भोजन करने से शरीर ठोस, सशक्त और पराक्रमी बनता है। पुरूषों के लिए सोने के बर्तनों में भोजन करना लाभदायक माना गया है। ज्योतिष के अनुसार राहू ग्रह अशुभता का परम सूचक माना जाता है। टूटे-फूटे तथा खंडित चीनी मिट्टी के बर्तन राहू का प्रतीक हैं।
Share this article

यह भी पढ़े

नौकरी पाने के अचूक और सरल उपाय

नाैकरी मिलेगी पक्‍की, अगर मंदिर में चढाओगे इतने फल

परीक्षा और इंटरव्यू में पानी हैं सफलता तो अपनाएं ये उपाय

घर में रखे इन पक्षियों के पंख, पैसों की तंगी होगी दूर

बनते काम बिगड रहे हैं तो समझिए आपका गुरु नीच का है, करें ये उपाय

किसी को भी वश में करने के वशीकरण उपाय