मंगल दोष से पड़ते हैं कुप्रभाव, निवारण के लिए आजमाएं ये उपाय

किस भी जातक का यदि मंगलवार कमजोर होता है तो न केवल उसके व्यवसाय बल्कि उसके जीवन में भी कई तरह के कुप्रभाव दिखने लगते हैं ऐसे में कुछ खास उपायों के माध्‍यम से मंगल को साधा जा सकता है।कुंडली के पहले, चौथे, सातवें, आठवें और बारहवें स्थान में मंगल हो तो मंगलदोष का योग बनता है। इस योग में जन्म लेने वाले व्यक्ति को मांगलिक कहते हैं। कुंडली की यह स्थिति विवाह संबंधों के लिए बहुत संवेदनशील मानी जाती है। मंगलदोष के लिए उपाय हनुमान जी को रोज चोला चढ़ाने से मंगल दोष से राहत मिल सकती है। मंगल दोष से पीड़ित व्यक्ति को जमीन पर ही सोना चाहिए।नीचस्थ मंगल के अशुभ योग से बचने के लिए तांबा पहनना शुभ सकता है। इस योग में गुड़ और काली मिर्च खाने से विशेष लाभ होगा। ज्योतिष में शनि को हवा और मंगल को आग माना जाता है। जिनकी कुंडली में शनि मंगल होता है उन्हें हथियार, हवाई हादसों और बड़ी दुर्घटनाओं से सावधान रहना चाहिए। हालांकि यह योग कभी–कभी बड़ी कामयाबी भी दिलाता है। शनि मंगल दोष के प्रभाव को कम करने के लिए रोज सुबह माता-पिता के पैर छुएं। हर मंगलवार और शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करने से इस योग का प्रभाव कम होगा।
Share this article

यह भी पढ़े

इस मंदिर में लक्ष्मी माता के आठ रूप

कुंडली का ये भाव बताता है आप ‘अमीर’ है या ‘गरीब’

ऎसा करने से चमकेगी किस्मत

शाम को ना करें ये काम, वरना हो जाएंगे कंगाल

इन बातों का रखें ध्यान, भरे रहेंगे धन के भंडार

वास्तु : इस रंग की कुर्सी पर बैठें, नहीं आएगी धन की कमी