ऐसे 3 महीनों में ही मिल जाएगा फल और योग्य संतान...

अगर जातक संतानहीनता की मार से गुजर रहा हो और और सभी कोशिशों के बाद भी संतान के योग नहीं बन पा रहे हों तो केवल एक ही उपाय है। इस खास देव की पूजा-आराधना करके यदि व्रत रखा जाए तो केवल 3 महीनों में ही फल मिल जाएगा और योग्य संतान आपके आंगन में खेलने लगेगी। धार्मिक ग्रंथों के अनुसार भगवान शिव की आराधना और उन्हें प्रसन्न करने के लिये प्रदोष व्रत का अनुष्ठान किया जाता है। यह व्रत चन्द्र मास की दोनों त्रयोदशी के दिन किया जाता है। एक शुक्ल पक्ष और दूसरा कृष्ण पक्ष के समय होता है। दक्षिण भारत में प्रदोष व्रत को प्रदोषम के नाम से भी जाना जाता है। प्रदोष व्रत से कई दोष की मुक्ति और संकटों का निवारण होता है। कहते हैं कि प्रदोष व्रत जब सोमवार को आता है तो उसे सोम प्रदोष कहते हैं। मंगलवार को आने वाले प्रदोष को भौम प्रदोष और शनिवार के दिन पड़ने वाले प्रदोष को शनि प्रदोष कहते हैं। प्रदोष व्रत अत्यंत फलकारी होता है। संतान प्राप्ति के लिये यह व्रत किया जाता है।
Share this article

यह भी पढ़े

नौकरी पाने के अचूक और सरल उपाय

किसी को भी वश में करने के वशीकरण उपाय

हर हिंदू को सूतक और पातक के नियम जानने हैं बेहद जरूरी

ये 7 प्रकार के कछुए बदल देंगे आपकी किस्मत

ये उपाय करें मिलेगा सभी समस्याओं से छुटकारा, बरसेगी खुशियां

इन चीजों को घर में रखा तो हो जाएंगे कंगाल