जानें, किस दिशा में हो रसोईघर और इससे जुड़ी खास बातें

भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार उपयुक्त वास्तु-विधान से बना किचन (रसोईघर) न केवल अच्छी सेहत और सकारात्मक उर्जा देता है, बल्कि घर के धन-धान्य और समृद्धि को बढ़ाने में विशेष मददगार होता है। घर की दक्षिण पूर्व दिशा किचन बनाने के लिए सबसे उपयुक्त है। क्योंकि इस दिशा के स्वामी अग्नि देव हैं। लेकिन अगर किसी भी वजह से आप इस दिशा में किचन नहीं बना पा रहे हैं तो उत्तर-पश्चिम दिशा में भी किचन बनाया जा सकता है। किचन बनवाते समय इन बातों पर गौर करें- - किचन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा प्लेटफार्म हमेशा पूर्व में होना चाहिए और ईशान कोण में सिंक व अग्नि कोण चूल्हा लगाना चाहिए। - किचन के दक्षिण में कभी भी कोई दरवाजा या खिडक़ी नहीं होने चाहिए। खिडक़ी पूर्व की ओर में ही रखें। - रंग का चयन करते समय भी विशेष ध्यान रखें। महिलाओं की कुंडली के आधार पर रंग का चयन करना चाहिए।
Share this article

यह भी पढ़े

यह उपाय करने से शांत होंगे शनि दोष

इस दिशा में हो मंदिर, तो घर में होती है कलह

क्या होता है पितृदोष व मातृदोष

कछुआ से लाए घर में ढेर सारी सुख और समृद्धि

शाम को ना करें ये काम, वरना हो जाएंगे कंगाल

पर्स में पैसा नहीं टिकता तो करें ये सरल उपाय