कृष्ण ने क्यों तोड़ी बांसुरी? मथुरा जाने के बाद राधा का क्या हुआ, जानिए...

राधा-कृष्ण के इस मिलन की कहानी अद्भुत बताई जाती है। इसके बाद माता-पिता के दबाव में आकर राधा को विवाह करना पड़ा, और विवाह के बाद अपना जीवन घर-गृहस्थी के नाम करना पड़ा। लेकिन दिल के किसी कोने में कृष्ण का ही नाम लेती थीं। जब राधा काफी वृद्ध हो गई थी। फिर एक रात वे चुपके से घर से निकल गई और घूमते-घूमते कृष्ण की द्वारिका नगरी में जा पहुंची। आखिरकार उन्होंने काफी सारे लोगों के बीच खड़े कृष्ण को खोज लिया। राधा को देखते ही कृष्ण के खुशी का ठिकाना नहीं रहा।
Share this article

यह भी पढ़े

इस दिशा में हो मंदिर, तो घर में होती है कलह

इन कार्यो को करने से आएगी घर में परेशानी

क्या होता है पितृदोष व मातृदोष

पर्स में पैसा नहीं टिकता तो करें ये सरल उपाय

इस मंदिर में लक्ष्मी माता के आठ रूप

वास्तु : इस रंग की कुर्सी पर बैठें, नहीं आएगी धन की कमी