कृष्ण जन्माष्टमी पर व्रत की तिथि और शुभ मुहूर्त कब?... जानने के लिए पढ़ें

सुधीर कुमार शर्माजयपुर। हर साल की तरह इस बार भी जन्माष्टमी मनाने को लेकर कन्फ्यूजन हो गया है। जन्माष्टमी 2 सितंबर यानी आज है या तीन सितंबर को। ज्योतिष परिषद एवं शोध संस्थान अध्यक्ष ज्योतिषाचार्य पंडित पुरुषोत्तम गौड़ के अनुसार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी हर साल रक्षा बंधन के बाद मनाई जाती है। हर साल की तरह इस बार भी यह कन्फ्यूजन हो गया है कि जन्माष्टमी 2 सितंबर को है या तीन सितंबर को। दरअसल एक बात यहां समझने की है कि हिंदू धर्म में दो तरह की तिथि को लोग मानते हैं, कुछ लोग उदया तिथि को मानते हैं और उसके अनुसार व्रत करते हैं। दूसरी तरफ कुछ लोग उदया तिथि को नहीं मानते हैं। भगवान कृ्ष्ण के पावन धाम वृंदावन में भी जन्माष्टमी इस बार धूमधाम से मनाए जाने की तैयारियां जोर-शोर से की गई हैं। कब मनाई जाती है जन्माष्टमी?ज्योतिषाचार्य पंडित पुरुषोत्तम गौड़ के अनुसार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी भाद्रपद में कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनार्इ जाती है। इस बार यह पर्व 2 सितंबर को पड़ रहा है, लेकिन इस बार भी कई लोग इसे 2 सितंबर और 3 सितंबर को अलग-अलग मनाएंगे। व्रत वाले दिन, स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद पूरे दिन उपवास रखकर रोहिणी नक्षत्र और अष्टमी तिथि पर व्रत का पारण किया जाता है। व्रत का पारण रोहिणी नक्षत्र में श्री कृष्ण भगवान के जन्म के बाद किया जाता है। यकीनन हिंदू धर्म में किसी व्रत और जन्मोत्सव को मनाई जाने वाली यह सबसे अनोखी परंपरा है जब भगवान कृ्ष्ण का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जाता है। वैष्णव और स्मार्त?
Share this article

यह भी पढ़े

पार्टनर को करना है वश में, तो अपनाएं ये टोटके

परीक्षा और इंटरव्यू में पानी हैं सफलता तो अपनाएं ये उपाय

जन्माष्टमी पर घर लायें ये 5 चींजें, होगी प्रेम-धन की बारिश

पूजा करते समय ऐसा कभी ना करें, नहीं तो ...

इन राशियों की लडकियां किसी को भी कर सकती हैं आकर्षित, जानें कैसे!

दीपक जलाने से पहले, इसके रहस्य भी जानें, हैरान रह जाएंगे आप