गणेश चतुर्थी पर इसलिए बचें चंद्र दर्शन से, जानें और भी बातें

इसी के साथ इस मंत्र का जाप भी कर सकते हैं :-"सिंह: प्रसेनमवधीत् सिंहो जाम्बवता हत:। सुकुमारक मा रोदीस्तव ह्येष स्यमन्तक:।।"
Share this article

यह भी पढ़े

इस दिशा में हो मंदिर, तो घर में होती है कलह

शाम को ना करें ये काम, वरना हो जाएंगे कंगाल

घर के कई वास्तु दोष दूर करती है तुलसी

क्या होता है पितृदोष व मातृदोष

हनुमानजी व शनिदेव के बीच क्या है रिश्ता

पर्स में पैसा नहीं टिकता तो करें ये सरल उपाय